Satya Darshan

पीएम कर रहे आचार संहिता का उलंघन, चुनाव आयोग कर रहा है अनदेखी - पू. निर्वाचन आयुक्त

डॉ. एसवाई कुरैशी ने ओडिशा में पीएम के हेलीकॉप्टर की तलाशी लेने वाले IAS के निलंबन को बताया दुर्भाग्यपूर्ण।

नयी दिल्ली | अप्रैल 19, 2019

ओडिशा में प्रतिनियुक्ति‍ पर तैनात आईएएस रैंक के मतदान पर्यवेक्षक मोहम्मद मोहसिन को सस्पेंड कर दिया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉफ्टर की तलाशी लेने को एसपीजी सुरक्षा से संबंधित आयोग के निर्देशों के विपरीत कार्य बता भारतीय चुनाव आयोग ने ये कार्रवाई की है.

निर्वाचन आयोग की इस कार्रवाई पर बड़ा बयान देते हुए पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. साथ ही कहा कि हमने संवैधानिक संस्थाओं की छवि को सुधारने का मौका भी गंवा दिया.

बल्कि हमने चुनाव आयोग और प्रधानमंत्री जैसी संवैधानिक संस्थाओं की छवि को सुधारने का बढ़िया मौका भी गंवा दिया है.

‘पीएम कर रहे आचार संहिता का उल्लंघन’

मामले को लेकर ट्वीट करते हुए पूर्व निर्वाचन आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने कहा कि ओडिशा में प्रधानमंत्री के हेलिकॉप्टर की तलाशी लेने वाले पर्यवेक्षक को सस्पेंड करना ना केवल दुर्भाग्यपूर्ण है.

उन्होंने कहा कि दोनों ही संस्थाओं की जनता के प्रति जवाबदेही है. पीएम मोदी लगातार चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं. वहीं चुनाव आयोग हर बार इसे नजर अंदाज कर रहा है.

डॉ. एसवाई कुरैशी ने कहा कि हेलीकॉप्टर की तलाशी ये बताने का बेहतर तरीका था कि कानून सभी के लिए बराबर है, चाहे वह प्रधानमंत्री हो या आम नागरिक.

अगर हेलिकॉप्टर की तलाशी करने के मामले में कार्रवाई नहीं की जाती तो इससे चुनाव आयोग और प्रधानमंत्री जैसी संस्थाओं की हो रही निंदा रूक जाती, लेकिन दुर्भाग्यवश ऐसा नहीं हुआ. अब दोनों संस्थाओं की निंदा और जोर पकड़ेगी.

साथ ही ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक के हेलिकॉप्टर की तलाशी की घटना का जिक्र करते हुए पूर्व चुनाव आयुक्त ने कहा कि नवीन पटनायक की आंखों के सामने चुनाव आयोग की टीम ने हेलिकॉप्टर की तलाशी ली.

पटनायक ने इसके खिलाफ कोई प्रतिक्रिया देने की बजाय उन्होंने इसका सम्मान किया. वह असल में राजनेता हैं और हमें ऐसे ही राजनेताओं की जरूरत है.

चुनाव आयोग ने किया सस्पेंड

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉप्टर की तलाशी लेने के मामले में चुनाव आयोग ने कर्नाटक कैडर के आईएएस अफसर मोहम्मद मोहसिन को निलंबित कर दिया था.

इस मामले में पीएमओ ने दखल दिया था

साथ ही आयोग के अधिकारी मामले की जांच करने के लिए ओडिशा भी गए थे. पीएमओ के हस्तक्षेप के बाद उन्हें ड्यूटी से सस्पेंड कर दिया गया था.

हालांकि, चुनाव आयोग की इस कार्रवाई के बाद आयोग और प्रधानमंत्री की हर तरफ आलोचना हो रही है.

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved