Satya Darshan

आंधी तूफान का मुआवजा सिर्फ़ गुजरात को ही क्यों प्रधानमंत्री जी, तबाह दो और राज्य भी हुए हैं: कमलनाथ

अप्रैल 17, 2019

गुजरात, राजस्थान और मध्य प्रदेश समेत देश के कई इलाकों में आंधी-तूफान से कहर मच गया है. अभी तक 31 लोगों की मौत हो गई है, जबकि दर्जनों घायल हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर घायलों के लिए दुख जताया और मुआवजे का भी ऐलान किया. लेकिन उन्होंने ऐसा सिर्फ गुजरात के लिए किया. इसी पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दो टूक शब्दों में कहा कि आप गुजरात नहीं पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं.
प्राकृतिक आपदा में न करें राजनीति.

दरअसल, बुधवार सुबह जैसे ही प्राकृतिक आपदा की खबर आई तो हर किसी को चिंता हुई. कुछ ही देर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट आया.

अपने ट्विटर हैंडल @narendramodi से नुकसान पर दुख जताया. पीएम ने लिखा कि गुजरात के कई हिस्सों में आंधी-बारिश और तूफान की वजह से हुए नुकसान से काफी आहत हूं. सभी के परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं.

प्रधानमंत्री के ट्वीट के अलावा प्रधानमंत्री कार्यालय के ट्विटर हैंडल @pmoindia से मुआवजे का ऐलान किया गया. यहां से ट्वीट किया गया कि गुजरात में जिन लोगों की आंधी-तूफान के कारण मौत हुई है, उन सभी के परिवारों को दो लाख का मुआवजा और जो लोग घायल हुए हैं उन सभी को 50 हजार रुपये की मदद की जाएगी.

प्रधानमंत्री के इस ट्वीट में सिर्फ गुजरात का जिक्र होने से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ भड़क गए. उन्होंने तुरंत ट्वीट कर कहा कि नरेंद्र मोदी जी, आप सिर्फ गुजरात नहीं बल्कि पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं. कमलनाथ ने लिखा कि एमपी में भी बेमौसम बारिश व तूफ़ान के कारण आकाशीय बिजली गिरने से 10 से अधिक लोगों की मौत हुई है, लेकिन आपकी संवेदनाएं सिर्फ गुजरात तक सीमित? भले यहां आपकी पार्टी की सरकार नहीं है लेकिन लोग यहाँ भी बसते है.

राजस्थान में भी इस प्राकृतिक कहर का जमकर असर दिख रहा है. राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी अपने सभी राजनीतिक कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है और अफसरों के साथ बैठक बुलाई है. अधिकारियों को मौके पर भेजा जा रहा है, अशोक गहलोत राज्य के हालात पर मीडिया से भी बात करेंगे. इसके अलावा चुनाव आयोग से इजाजत लेकर मुआवजे का ऐलान भी किया जाएगा.

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved