Satya Darshan

फेसबुक ने कुल 1,126 पेज बीजेपी, कांग्रेस और पाकिस्तान के हटाए

अप्रैल 3, 2019

चुनाव से पहले फेसबुक ने भारत में एक बड़ी कार्रवाई की है. फेसबुक ने करीब 1,023 पेज, अकाउंट और ग्रुप हटा दिए हैं. ये अधिकांश बीजेपी और कांग्रेस के समर्थक थे.

सोशल मीडिया बेवसाइट फेसबुक ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए फेसबुक पर गलत आचरण कर रहे हजारों पेज, ग्रुप्स और निजी अकाउंट्स और इंस्टाग्राम अकाउंट्स को हटा दिया है. फेसबुक न्यूजरूम ने 1 अप्रैल को एक प्रेस रिलीज जारी किया. इस प्रेस रिलीज के मुताबिक "कॉर्डिनेट इन-ऑथेंटिक बिहेवियर" यानी लगातार फेसबुक के कम्यूनिटी स्टैंडर्ड्स का पालन नहीं करने की वजह से फेसबुक ने भारत और पाकिस्तान से संचालित होने वाले 1,126 पेज और अकाउंट्स पर यह कार्रवाई की है.

फेसबुक का कहना है कि भारत में हटाए गए पेजों में से अधिकतर राजनीतिक पार्टियों से ताल्लुक रखने वाले लोगों द्वारा चलाए जा रहे हैं. भारत में 11 अप्रैल से 19 मई तक चुनाव होने हैं. ऐसे में इन पेजों पर लगातार नजर रखी जा रही थी. लेकिन लगातार नियमों का उल्लंघन करने के चलते यह कार्रवाई की गई. हालांकि फेसबुक ने अपनी रिपोर्ट में कहीं बीजेपी समर्थक पेजों का जिक्र नहीं किया है. साथ ही पाकिस्तान से चलने वाले 103 पेज हटाए गए हैं.

भारत में फेसबुक की कार्रवाई

भारत से चलाए जाने वाले 1,023 पेज, ग्रुप्स और अकाउंट्स पर कार्रवाई की गई. फेसबुक के मुताबिक 687 पेज और अकाउंट जिनमें से अधिकतर पेज ऐसे लोगों द्वारा चलाए जा रहे थे जो कांग्रेस की आईटी सेल से जुड़े थे, को ऑटोमेटेड सिस्टम ने हटा दिया है. इनमें 138 पेज और 549 फेसबुक अकाउंट थे. ये पेज और अकाउंट स्थानीय और राजनीतिक सामग्री के अलावा बीजेपी और दूसरे विपक्षी दलों के विरोध में लगातार पोस्ट कर रहे थे. इन पेजों के करीब 2,60,000 फॉलोवर्स थे. इन पेजों ने अपने ऐड पर 39,000 डॉलर यानी करीब 27 लाख रुपये खर्च किए थे.

हटाए गए 15 पेज, ग्रुप और अकाउंट एक आईटी फर्म सिल्वर टच द्वारा संचालित थे. फैक्ट चैकिंग साइट ऑल्ट न्यूज के मुताबिक सिल्वर टच अहमदाबाद से ऑपरेट करने वाली फर्म है. इसी फर्म ने साल 2013 में यूपीए सरकार में पासपोर्ट ऐप, 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नमो ऐप बनाई थी. सिल्वर टच के बड़े क्लाइंट्स में गुजरात सरकार शामिल है. सिल्वर टच से जुड़े लोग इंडिया आई नाम से एक फेसबुक पेज चलाते हैं जिस पर करीब 26 लाख लाइक्स हैं. यह पेज बीजेपी और नरेंद्र मोदी के समर्थन में पोस्ट करता है. इस पेज से कई बार फेक न्यूज भी फैलाई गईं हैं. इसे फेसबुक ने हटा दिया है. इन पेजों ने प्रमोशन में 70,000 डॉलर यानी करीब 48 लाख रुपये खर्च किए हैं.

इसके अलावा 321 पेजों और अकाउंट्स को भी हटाया गया है लेकिन इनके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी गई है. इनमें 227 पेज और 94 फेसबुक अकाउंट्स हैं. फेसबुक के मुताबिक इन 321 में उन्हें कोई "एकल" या "सामूहिक" तरीके से चलाए जाने वाले पेज नहीं लगे. इन पेजों द्वार ऐड पर खर्च राशि भी नहीं बताई गई है.

227 पेजों की सच्चाई छिपा गया फेसबुक

227 पेजों के बारे में फेसबुक ने स्पष्ट जानकारी नहीं दी है. लेकिन बड़ी बात इन पेजों के साथ ही है. भारतीय न्यूज वेबसाइट दी प्रिंट के मुताबिक इनमें लगभग 200 पेज बीजेपी और हिंदुत्व समर्थक हैं. इनमें से कई पेज ऐसे थे जिनके 10 से 50 लाख तक फॉलोवर्स थे. रिपोर्ट के मुताबिक एक नाम नरेंद्र मोदी, अटल मोदी, ग्रेट नरेंद्र मोदी नाम के पेज हटाए गए हैं. इनके करीब 15 लाख फॉलोवर्स थे. ऑल्ट न्यूज के फाउंडर प्रतीक सिन्हा और मोहम्मद जुबैर के मुताबिक सपोर्ट फॉर मोदी-18 लाख, पोस्टकार्ड फैंस-13 लाख फॉलोवर्स जैसे कई प्रो मोदी पेज हटाए गए हैं. इनके अलावा फेक न्यूज फैलाने वाले दैनिक भारत, इंडिया रिपोर्ट कार्ड को हटाया गया है. हैदराबाद के बीजेपी एमएलए राजा सिंह का पेज भी हटाया गया है.

इन पेजों के बंद होने से बीजेपी के समर्थकों को भी झटका लगा होगा. हालांकि बीजेपी आईटी सेल के हैड जल्दबाजी में बिना पूरी जानकारी के एक ट्वीट कर गए. उन्होंने लिखा कि कांग्रेस समर्थक पेजों को हटाया जाना कांग्रेस के लिए शर्म की बात है. कांग्रेस ने इसके जवाब में कहा है कि उनकी पार्टी से जुड़े किसी आधिकारिक पेज पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

पाकिस्तान में फेसबुक की कार्रवाई

फेसबुक के मुताबिक फेसबुक और इंस्टाग्राम से हटाए गए 103 पेज, ग्रुप और अकाउंट्स पाकिस्तान से चलाए जा रहे थे. इनमें सामान्य पाकिस्तान समर्थक पेजों के साथ पाकिस्तानी फौज और कश्मीर के नाम पर चलाए जा रहे पेज शामिल हैं. इन पेजों ने भारतीय सरकार, भारतीय सेना और नेताओं के बारे में आपत्तिजनक पोस्ट किए थे. फेसबुक ने कहा कि इन पेजों को चलाने वाले लोगों की पहचान पाकिस्तानी फौज के इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशन के कर्माचारियों के रूप में की गई है.

24 पेज, 57 फेसबुक अकाउंट, 7 ग्रुप फेसबुक पर और 15 अकाउंट और 7 ग्रुप इंस्टाग्राम पर हटाए गए हैं. इन फेसबुक पेजों के 28 लाख फॉलोवर्स, ग्रुप्स में 4,700 लोग और इंस्टाग्राम पर 1,050 फॉलोवर्स थे. साथ ही इन सब को प्रमोट करने पर करीब 1,100 डॉलर यानी 76,000 रुपये खर्च किए गए.

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved