Satya Darshan

3 अप्रैल : इतिहास मे आज क्या है खास

अप्रैल 3, 2019

आज से ठीक 39 साल पहले भारतीय वायु सेना के स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा अंतरिक्ष में जाने वाले पहले भारतीय बने थे. राकेश शर्मा ने सेल्युत 7 अंतरिक्ष केंद्र में 7 दिन 21 घंटे बिताए थे।

तीन अप्रैल 1984 को दो अन्य सोवियत अंतरिक्ष यात्रियों के साथ सोयूज टी 11 में राकेश शर्मा को अंतरिक्ष में भेजा गया था. अंतरिक्ष यात्रियों को ले जाने वाला 6,850 किलो वजनी स्पेस क्राफ्ट कजाखस्तान से रवाना हुआ था. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो और रूस के सोवियत इंटरकॉसमॉस स्पेस प्रोग्राम के संयुक्त उपक्रम के तहत उन्हें भारत की ओर से पहले अंतरिक्ष यात्री के रूप में चुना गया. वायु सेना के एक और अफसर विंग कमांडर रवीश मल्होत्रा को शर्मा के बैकअप के तौर पर चुना गया था।

राकेश शर्मा का जन्म 13 जनवरी 1949 को पंजाब के पटियाला में हुआ था. 1970 में वे भारतीय वायु सेना में बतौर पायलट अफसर शामिल हुए. 1971 में पाकिस्तान के साथ युद्ध में राकेश शर्मा ने मिग विमान उड़ाया और अपने मिशन में सफलता हासिल की. राकेश शर्मा के साथ स्पेस क्राफ्ट में यूरी मालिशेव और गेनादी स्त्रेकलोव जैसे अनुभवी अंतरिक्ष यात्री सवार थे. दोनों को कई बार अंतरिक्ष में जाने का अनुभव था. उस वक्त राकेश शर्मा के अंतरिक्ष में जाने की खबर से पूरा देश गर्व में डूबा हुआ था।

लोगों में एक भारतीय के अंतरिक्ष में जाने को लेकर इतना उत्साह था कि वे रेडियो और दूरदर्शन के जरिए पल पल की खबर रख रहे थे. भारत के कई शहरों में उत्साह का ऐसा माहौल था जैसा अक्सर क्रिकेट के मैच में पाकिस्तान पर जीत हासिल करने के बाद होता है. अंतरिक्ष केंद्र में रहते हुए राकेश शर्मा ने भारत पर केंद्रित पृथ्वी अवलोकन कार्यक्रम में हिस्सा लिया. उन्होंने अंतरिक्ष केंद्र में लाइफ साइंसेज के अलावा कई अन्य प्रयोग भी किए. साथ ही उन्होंने गुरुत्वाकर्षण हीन वातावरण में योगाभ्यास भी किया।

अंतरिक्ष में रहने के दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने राकेश शर्मा से पूछा था कि ऊपर से भारत कैसा दिखता है. राकेश शर्मा ने जवाब दिया, 'सारे जहां से अच्छा'. भारत में राकेश शर्मा को अशोक चक्र से सम्मानित किया गया है इसके अलावा उन्हें सोवियत संघ के सर्वोच्च पुरस्कार हीरो ऑफ सोवियत यूनियन से भी नवाजा गया।

🔖3 अप्रैल की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ –

★जोसेफ स्टालिन को 1922 में सोवियत कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति का महासचिव नियुक्त किया गया।

★विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट के ऊपर से 1933 में पहली बार विमान ने उड़ान भरी थी।

★जापान ने 1942 में द्वितीय विश्वयुद्ध में अमरीका पर आखिरी दौर की सैन्य कार्यवाई शुरू की।

★अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और कनाडा ने 1949 में उत्तरी अटलांटिक समझौते पर हस्ताक्षर किए।

★राकेश शर्मा 1984 में रुस के अंतरिक्ष यान सोयुज टी 11 से अंतरिक्ष पर जाने वाले प्रथम भारतीय अंतरिक्ष यात्री बने।

★भारत ने पहला वैश्विक दूरसंचार उपग्रह इनसैट 1 ई का प्रक्षेपण 1999 में किया।

★संयुक्त राज्य अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन 2001 को भारत यात्रा पर पहुँचे।

★पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ़ की जनमत संग्रह की योजना को 2002 में मंत्रिमंडल की मंजूरी मिली।

★नेपाल में माओवादियों ने 2006 में संघर्ष विराम की घोषणा की।

★सन 2007 में नई दिल्ली में 14वां सार्क सम्मेलन शुरू।

★मेधा पाटकर को 2008 में राष्ट्रीय क्रांतिवीर अवार्ड 2008 से नवाज़ा गया।

★एप्पल का पहला आईपेड 2010 में मार्केट में आया।

★अर्जेंटीना में 2013 को आई भीषण बाढ़ से 50 से अधिक लोगों की मौत हुयी।

★कोलकाता के ईडन गार्डंस मैदान पर 2016 में वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड को हराकर आईसीसी ट्वेंटी-20 विश्व कप को जीता।

★उत्‍तराखण्‍ड की राजधानी देहरादून के वन अनुसंधान संस्‍थान में 2017 को 19वां राष्‍ट्रमंडल वानिकी सम्‍मेलन शुरू हुआ।

🔖3 अप्रैल को जन्मे व्यक्ति –

★स्वतंत्रता सेनानी एवं समाज सुधारक कमला देवी चट्टोपाध्याय का 1903 में जन्म।

★भारत के प्रथम फील्ड मार्शल एस एच एफ जे मानेकशॉ का 1914 में जन्म।

★प्रसिद्ध उक्रेनी लेखक तथा उपन्यासकार ओलेस गोनचार का 1918 में जन्म हुआ।

★कनाडाई सीनेटर मौरिस रील का 1922 में जन्म हुआ।

★अमेरिकी गायिका और अभिनेत्री डोरिस डे का 1922 में जन्म हुआ।

★प्रसिद्ध साहित्यकार निर्मल वर्मा का जन्म 1929 में हुआ।

★प्रसिद्ध साहित्यकार मन्नू भंडारी का जन्म 1931 में हुआ।

★राजनेता और फिजीशियन डॉ. के. कृष्णास्वामी का 1954 में जन्म हुआ।

★मशहूर गायक हरिहरन का 1955 में जन्म हुआ।

🔖3 अप्रैल को हुए निधन –

★चिश्ती सम्प्रदाय के चौथे संत निज़ामुद्दीन औलिया का निधन 1325 में हुआ था।

★भारत में मराठा सम्राज्य की नींव रखने वाले छत्रपति शिवाजी महाराज की 1680 में रायगढ में मृत्यु।

★प्रसिद्ध साहित्यकार एस. एच. वात्स्यायन अज्ञेय का 1987 को नई दिल्ली में निधन।

★भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के छह संस्थापक सदस्यों में से एक अनंत लागू का निधन 2010 को हुआ था।

★हिंदुस्‍तानी शास्‍त्रीय परंपरा की प्रमुख गायिकाओं में से एक किशोरी अमोनकर का निधन 2017 को हुआ था।

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved