Satya Darshan

कांंग्रेस का घोषणा पत्र जारी, इस बार सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी

घोषणापत्र तैयार करने के लिए कांग्रेस ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की अध्यक्षता में बनाई थी समिति। कांग्रेस ने घोषणापत्र को जन आवाज नाम दिया, इसके बनाने के लिए 20 उपसमितियां बनाई गई थीं। 121 जगहों पर लोगों से चर्चा हुई, 24 राज्यों को कवर किया गया।

नई दिल्ली | अप्रैल 2, 2019

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मंगलवार को कांग्रेस अपना घोषणापत्र जारी किया। इससे पहले कांग्रेस मैनिफेस्टो कमेटी के चेयरमैन पी  चिदंबरम ने कहा कि घोषणापत्र में समाज के हर वर्ग का ध्यान रखा गया है। इस बार सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी है।

मोदी सरकार के कार्यकाल में 4 करोड़ 70 लाख लोगों की नौकरियां गईं। घोषणापत्र तैयार करने के लिए पूरे देश से 1 लाख 60 हजार सुझाव आए। इस दौरान दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में राहुल गांधी, सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के कई बड़े नेता मौजूद रहे।
 
इस बीच घोषणापत्र समिति के सदस्य बालचंद्र मुंगेकर ने कहा, "कांग्रेस के सत्ता में आने पर पहले ही दिन राफेल डील पर जांच बैठाई जाएगी। इसे भी मैनिफेस्टो में शामिल किया गया है।" 
 
'मुख्य मकसद देश में नई नौकरियां लाना'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए राहुल ने कहा था कि घोषणापत्र में केवल एक व्यक्ति नहीं बल्कि देश के हर आदमी के विचार शामिल किए गए। राहुल ने यह भी कहा कि घोषणापत्र में मुख्य रूप से नई नौकरियों के अवसर पैदा करने और किसानों के लिए योजनाओं का जिक्र होगा। साथ ही शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने की बात भी रहेगी। कुल मिलाकर घोषणापत्र अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए एक रोडमैप की तरह होगा। 
 
कांग्रेस अध्यक्ष के मुताबिक, "घोषणापत्र तैयार करने के लिए देशभर से लोगों की राय ली गई। देश आज जिन चुनौतियों से जूझ रहा है, इन सब मुद्दों को मैनिफेस्टो में जगह दी गई है।"
 
चिदंबरम की अध्यक्षता में बनी थी कमेटी

कांग्रेस ने देशभर के लोगों के विचार जानने के लिए एक प्रक्रिया शुरू की थी। इसके चलते पार्टी के कई नेताओं ने देश के कई हिस्सों में लोगों से उनके विचार जाने थे। घोषणापत्र तैयार करने के लिए पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की अध्यक्षता में समिति बनाई गई थी।

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved