Satya Darshan

1 अप्रैल : इतिहास मे आज क्या है खास

अप्रैल 1, 2019

एक अप्रैल वह तारीख है जिसका इस्तेमाल सालों से लोग एक दूसरे को बेवकूफ बनाने के मौके की तरह करते आ रहे हैं. देखें इसका इतिहास...

अप्रैल फूल डे को ऑल फूल्स डे भी कहा जाता है. सालों पहले पश्चिम के कुछ लोगों ने अप्रैल महीने की पहली तारीख को मूर्ख बनाने का दिन घोषित कर दिया. फिर क्या था धीरे धीरे यह दिवस दुनिया भर में प्रसिद्ध हो गया. इस दिन लोग तरह तरह के मजाक और बेवकूफ बनाने के तरीकों का सहारा लेकर एक दूसरे की हंसी उड़ाने की जुगत में लगे रहते हैं. अप्रैल फूल डे के दिन लोग खुद को दूसरे से ज्यादा बुद्धिमान बताने की कोशिश में रहते हैं. अप्रैल फूल को लेकर ठीक ठीक जानकारी नहीं है कि इसकी शुरुआत कब से हुई लेकिन ऐसा मानना है कि यह सदियों से अलग अलग संस्कृतियों में मनाया जाता है।

कुछ इतिहासकारों का मानना है कि यह 1582 से मनाया जा रहा है. ऐसा कहा जाता है कि जब फ्रांस ने जूलियन कैलेंडर से ग्रेगोरियन कैलेंडर को अपनाया तो उस समय लोगों को इसकी जानकारी मिलने में बहुत देर हुई. उस समय लोगों को यह समझ में नहीं आया कि नए कैलेंडर के मुताबिक साल की शुरूआत एक जनवरी को हो गई है. वह मार्च के आखिरी सप्ताह से लेकर एक अप्रैल तक नए साल का जश्न मनाते रहे. इस तरह से इन लोगों का मजाक उड़ाया जाने लगा. अलग अलग देशों में इसे मनाने का अलग अलग कारण है. वैसे इंग्लैंड में अप्रैल फूल के दिन मनोरंजक और रोचक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. कार्यक्रम के जरिए लोग दूसरे पर मूर्खता भरे गीत गाकर मनोरंजन करते हैं. वहीं स्कॉटलैंड में मूर्ख दिवस को हंटिंग द फूल के नाम से जाना जाता है. इस दिन यहां लोग मुर्गा चुराते हैं जो कि पहली अप्रैल की खास परंपरा है।

आधुनिक समय में अखबार, रेडियो और इंटरनेट पर अप्रैल फूल डे की चलन तेजी से बढ़ी है. पाठकों का मनोरंजन करने के लिए अखबार तरह तरह के चुटकुले और चित्रों का सहारा लेते हैं. 1957 में बीबीसी ने एक अप्रैल को लोगों को बेवकूफ बनाने के लिए एक मनगढ़ंत रिपोर्ट दिखाई थी जिसमें बताया गया था कि कैसे स्विस के किसान स्पेगेटी की बंपर फसल की उम्मीद कर रहे हैं. इस रिपोर्ट में लोगों को नुडल्स उगाते हुए भी दिखाया गया था. बीबीसी ने इस तरह से हजारों दर्शकों और पाठकों को बेवकूफ बनाया था।

🔖1 अप्रैल की अन्य महत्त्वपूर्ण घटनाएँ –

★फ्रांस में 1582 में फूल्स डे की शुरूआत।

★पोप चार्ल्स IX ने 1582 में पुराने कैलेंडर की जगह नया रोमन कैलेंडर शुरू किया।

★जापान में 1793 में ‘उनसेन’ नाम का ज्वालामुखी फटने के वजह से तक़रीबन 53000 लोगों की मौत।

★कोलकाता मेडिकल कॉलेज और अस्पताल 1839 में शुरू किया गया था।

★कोलकाता में बनी संग्रहालय की नई इमारत को जनता के लिए 1878 में खोला गया।

★फ्रांस की राजधानी पेरिस और ब्रिटेन की
राजधानी लंदन के बीच 1891 में दूरभाष संपर्क शुरू हुआ।

★सन 1912 में दिल्ली को भारत की राजधानी और एक प्रांत घोषित किया गया।

★अडोल्फ़ हिटलर को 1924 में बीयर हॉल क्रान्ति में भाग लेने के लिए 5 साल कैद की सजा सुनाई गई। लेकिन वह केवल 9 महिने तक जेल में रहे।

★सन 1930 में देश में विवाह के लिए लड़कियों की न्यूनतम उम्र चौदह और लड़कों की अठारह वर्ष की गई।

★पाकिस्तान कराची में 1933 में भारतीय वायु सेना की स्थापना की गई।

★रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 1 अप्रैल 1935 से काम करना शुरू किया। इसके लिए अंग्रेजों ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया एक्ट 1934 कानून बनाया था।

★ओडिशा को बिहार से अलग करके 1936 में एक नया राज्य बनाया गया।

★भारत का पहला परमाणु ऊर्जा स्टेशन 1969 में महाराष्ट्र के तारापुर क्षेत्र में शुरू हुआ।

★भारत के कार्बेट नेशनल पार्क में चीताओं को बचाने के लिए 1973 में ‘टाइगर बचाओं’ अभियान चलाया गया।

★दूरदर्शन को रेडियो से अलग कर के 1976 में दूरदर्शन कॉर्पोरेशन की स्थापना हुई।

★स्टीव जॉब्स और उनके साथियों ने मिलकर 1 अप्रैल 1976 को एप्पल कंपनी की स्थापना की थी।

★ईरान 1979 में मुस्लिम गणराज्य घोषित हुआ।

★आठवीं पंचवर्षीय योजना 1992 में प्रारंभ हुई।

★1997 में मार्टिना हिंगिस टेनिस इतिहास में सबसे कम उम्र की नंबर एक महिला खिलाड़ी बनीं।

★नीदरलैंड समलैंगिक विवाह को 2001 में कानूनी तौर पर अपनाने वाला दुनिया का प्रथम देश बन गया।

🔖1 अप्रैल को जन्मे व्यक्ति –

★सिखों के नवें गुरु गुरु तेग बहादुर का 1621 में जन्म हुआ।

★भारत के प्रसिद्ध वैज्ञानिक प्राण कृष्ण पारिजा का 1891 में जन्म हुआ।

★प्रगतिशील काव्य-धारा के एक प्रमुख कवि एवं लेखक केदारनाथ अग्रवाल का 1911 में जन्म हुआ।

★भारतीय एथलीट फ़ौजा सिंह का 1911 में जन्म हुआ।

★अमेरिकी लेखक विलियम मैनचेस्टर का 1922 में जन्म हुआ।

★उपन्यासकार मिलान कुंदेरा का 1929 में जन्म हुआ।

★हिन्दी सिनेमा की 60 के दशक की प्रसिद्ध अभिनेत्री जबीन जलील का 1936 में जन्म हुआ।

★भारत के 13वें उपराष्ट्रपति रहे मोहम्मद हामिद अंसारी का 1937 में जन्म हुआ।

★भारतीय क्रिकेटर अजीत वाडेकर का 1941 में जन्म हुआ।

★भारतीय क्रिकेटर मुरली विजय का 1984 में जन्म हुआ।

🔖1 अप्रैल को हुए निधन-

★आधुनिक गुजराती साहित्य के कथाकार तथा इतिहासकार गोवर्धनराम माधवराम त्रिपाठी का निधन 1907 को हुआ था।

★भारत और पाकिस्तान के बीच रैडक्लिफ़ नाम की विभाजन रेखा तैयार करने वाले सर सिरिल रैडक्लिफ़ का निधन 1977 को हुआ।

★पर्सनल कम्प्यूटर (पीसी) के युग की शुरुआत करने वाले हेनरी एडवर्ड रॉबर्ट्स का निधन 2010 को हुआ था।

★हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्यकार कैलाश वाजपेयी का निधन 2015 को हुआ था।

🔖1 अप्रैल के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव –

★अप्रैल फूल्स डे

★ओड़िसा डे

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved