Satya Darshan

बहाल होगा योजना आयोग, खत्म करेंगे मोदी मार्केटिंग बना नीति आयोग- राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि नीति आयोग ने पांच साल में सिर्फ पीएम के लिए प्रेजेंटेशन बनाई, नीति आयोग को बदलकर नया प्लानिंग कमिशन बनाएंगे हमारी प्लानिंग कमिशन में देश के बड़े अर्थशास्त्रियों और एक्सपर्ट्स को रखा जाएगा।

नयी दिल्ली | मार्च 30, 2019

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कल एक और बड़ा ऐलान किया हरियाणा के करनाल में कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि अगर इस बार उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव जीतकर सत्ता में आती है, तो वो नीति आयोग को भंग कर देंगे. साथ ही योजना आयोग को बहाल कर देंगे.

उन्होंने ट्वीट कर भी कहा, 'यदि चुनाव के बाद सत्ता में लौटे तो नीति आयोग को खत्म करेंगे। इस आयोग ने पीएम मोदी के लिए मार्केटिंग प्रेजेंटेशन बनाने और आंकड़ों में हेर-फेर करने के अलावा कोई भी काम नहीं किया है।'

राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, 'सत्ता में लौटने पर नीति आयोग की जगह बेहद छोटा प्लानिंग कमिशन लेकर आएंगे। इस आयोग के सदस्य देश के बड़े अर्थशास्त्री और जानकार होंगे। इस आयोग में 100 लोगों से भी कम का स्टाफ होगा।'

इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि नीति आयोग के पास प्रधानमंत्री के लिए मार्केटिंग करने और फर्जी आंकड़े तैयार करने के सिवाय कोई काम नहीं हैं. आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने के बाद एक जनवरी 2015 को योजना आयोग को भंग कर दिया था और इसकी जगह नीति आयोग का गठन किया था. नीति आयोग के अध्यक्ष प्रधानमंत्री हैं.

गौरतलब है कि राहुल गांधी के न्याय योजना के ऐलान के बाद नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार ने इस योजना के विरोध में बयान दिया था। राजीव कुमार ने कहा था कि यदि ऐसी कोई स्कीम लागू की जाएगी तो इससे देश की अर्थव्यवस्था पर बेहद बुरा असर पड़ेगा। राजीव कुमार के इस बयान के बाद कांग्रेस नेताओं ने चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की थी।

बता दें कि राहुल गांधी इन दिनों जोर-शोर से चुनाव प्रचार में लगे हैं। वह पीएम मोदी पर हमला बोलने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते हैं। शुक्रवार को हरियाणा के करनाल में रोड शो के बाद राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी चौकसी को भाई और जनता को मित्रों कहते है। आम लोगों से पैसा लेकर अनिल अंबानी, अडानी, नीरव और मेहुल चौकसी जैसे कारोबारियों को देते हैं। 

शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने करनाल से पहले यमुनानगर में चुनावी रैली की. यहां उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले 15 लाख रुपये देने के वादे से उनको गरीबों के लिए न्याय यानी न्यूनतम आय योजना का विचार मिला. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि देश के गरीबों के लिए कांग्रेस का चुनावी वादा ‘न्याय’ यानी न्यूनतम आय योजना ऐतिहासिक  है. जब से इसकी घोषणा हुई है, तब से प्रधानमंत्री हिल गए हैं.

उन्होंने कहा कि न्याय योजना के तहत देश के 20 फीसदी गरीबों के बैंक खाते में हर साल 72 हजार रुपये जमा कराए जाएंगे. राहुल ने कहा कि पीएम मोदी अमीरों की सुरक्षा करते हैं, जबकि कर्ज से लदे किसानों की मदद से बच रहे हैं. यह चौकीदार चोर है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी गरीबों, कमजोर वर्गों और किसानो के लिए काम करती है. 2019 के लोकसभा चुनाव दो विचारधाराओं के बीच की लड़ाई है. इसमें एक तरफ बीजेपी, आरएसएस और पीएम नरेंद्र मोदी हैं, तो दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी है.

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved