Satya Darshan

30 मार्च : इतिहास मे आज क्या है खास

मार्च 30, 2019

वॉशिंगटन में 30 मार्च, 1981 को गुलाबी दोपहर थी. राष्ट्रपति रीगन होटल के पास से गुजर रहे थे, तभी ताबड़तोड़ छह गोलियां चल गईं. पूरा अमेरिका सकते में आ गया. जेहन में जॉन एफ कैनेडी और अब्राहम लिंकन की तस्वीर कौंधने लगी।

रीगन की छाती में गोली लगी थी, जो उनके शरीर को भेदती हुई फेफड़ों तक पहुंच चुकी थी. गोली दिल से सिर्फ एक इंच की दूरी पर थी. ऐसी हालत में जब उन्हें जॉर्ज वाशिंगटन अस्पताल पहुंचाया गया, तो वहां स्ट्रेचर नहीं था. रीगन चलते हुए अस्पताल के अंदर गए, फिर मूर्छा छाने लगी. सांस लेने में दिक्कत होने लगी और वो घुटनों के बल जमीन पर बैठ गए।

अमेरिका में इससे पहले जब भी किसी राष्ट्रपति पर गोली चली थी, वह जानलेवा ही साबित हुई थी. अब्राहम लिंकन, जेम्स गार्डफील्ड, विलियम मैकिनले और जॉन कैनेडी इसकी मिसाल हैं. सिर्फ 69 दिन पुराने राष्ट्रपति रीगन पर भी गोली चलने के बाद अमेरिका में हताशा छा गई. अमेरिका में 1980 के दशक में टेलीविजन बुलंदियों तक पहुंच चुका था. रीगन पर हमले की खबर जंगल में आग की तरह फैली. एक अनचाहा डर लोगों को परेशान करने लगा।

इस हमले की कहानी भी अजीब है. जॉन हिंकले जूनियर नाम के एक सिरफिरे ने जूडी फोस्टर की फिल्म टैक्सी ड्राइवर कई बार देख ली थी और वह जूडी से "प्यार" कर बैठा था. जूडी ने इस एकतरफा प्यार को खारिज कर दिया, तो हिंकले ने सोचा "कुछ ऐसा किया जाए कि दुनिया मुझे जाने और तब जूडी भी मेरी कद्र करेगी". चूंकि टैक्सी ड्राइवर फिल्म का हीरो रॉबर्ट डी नीरो राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की हत्या की साजिश रचता है, इसलिए हिंकले जूनियर ने भी ऐसा ही करने का इरादा किया।

कैनेडी की हत्या के बाद अमेरिकी राष्ट्रपतियों की सुरक्षा बहुत कड़ी कर दी गई थी. उन्हें आम तौर पर बुलेटप्रूफ जैकेट पहनना होता था और उनकी सुरक्षा में लगे लोगों को भी. लेकिन 30 मार्च, 1981 को जब राष्ट्रपति रीगन हिल्टन होटल से अपनी लिमोजीन कार की तरफ जा रहे थे, तो उन्होंने बुलेटप्रूफ जैकेट नहीं पहनी थी क्योंकि यह सिर्फ 30 फीट की बात थी. लेकिन इसी दायरे में हिंकले जूनियर भी मशहूर जर्मन पिस्तौल रोएम के साथ खड़ा था।

🔖30 मार्च की अन्य महत्त्वपूर्ण घटनाएँ –

★नेपोलियन बोनापोर्ट को हराने के बाद ब्रिटेन की सेना ने 1814 में पेरिस की ओर चल पड़ी।

★फ्लोरिडा 1822 में अमेरिकी गणराज्य में शामिल हुआ।

★बेहोशी की दवा के रूप में ईथर का 1842 में पहली बार इस्तेमाल हुआ।

★क्रिमिया नामक लड़ाई 1856 में पेरिस समझौते के साथ समाप्त हुई।

★हैमेन एल. लिपमेन ने 1858 में इरेजर के साथ जुड़ी पेंसिल का पहला पेटेंट रजिस्टर किया।

★अमेरिका ने रूस से अलास्का को 1867 में खरीदा।

★जर्मनी के डुसेलडॉफ शहर पर बेल्जियम की सेना ने 1919 में अपना कब्जा किया।

★महात्मा गांधी ने 1919 में रॉलेक्ट एक्ट के विरोध की घोषणा की।

★सोवियत संघ ने 1945 में आस्ट्रिया पर आक्रमण किया।

★राजस्थान राज्य की स्थापना 1949 में आज ही के दिन हुई और जयपुर को उसकी राजधानी बनाया गया।

★मर्रे हिल ने 1950 में फोटो ट्रांजिस्टर का अविष्कार किया।

★फ्रांस ने 1963 में अल्जीरिया के इकर क्षेत्र में भूमिगत परमाणु परीक्षण किया।

★अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन में 1976 में भूमि दिवस के नाम से बहुत बड़ा प्रदर्शन हुआ।

★स्वामी अग्निवेश ने 1977 में अपनी भारतीय आर्यसभा पार्टी को जनता पार्टी में विलय कर दिया।

★नासा के अंतरिक्ष यान कोलंबिया ने 1982 में एसटीएस-3 मिशन पूरा कर पृथ्वी पर वापसी की।

★सत्यजित रे को 1992 में मानद ऑस्कर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

★पाकिस्तान के कहुटा परमाणु संयंत्र पर 2003 में 2 वर्षों के लिए प्रतिबंध लगा।

★दिल्ली के मशहूर और पुराने सिनेमा धरों में से एक 1932 से चल रहे रीगल सिनेमा हॉल को 2017 में बन्द कर दिया गया।

🔖30 मार्च को जन्मे व्यक्ति –

★1853 में नीदरलैण्ड के प्रसिद्ध चित्रकारों में से एक विन्सेंट वैन गो का जन्म हुआ।

★1899 में भारत–पाकिस्तान विभाजन की रेखा तैयार करनेवाले सीरिल रैडक्लिफ़ का जन्म हुआ।

★1908 में भारतीय अभिनेत्री देविका रानी का जन्म हुआ।

🔖30 मार्च को हुए निधन –

★सिक्खों के आठवें गुरु गुरु हर किशन सिंह का सन 1664 में आज ही के दिन निधन हुआ।

★प्रसिद्ध संगीतकार आनंद बख्शी का सन 2002 में आज ही के दिन निधन हुआ।

★मशहूर कार्टूनिस्ट और लेखक ओ वी विजयन का सन 2005 में आज ही के दिन निधन हुआ।

★आधुनिक हिन्दी साहित्य के प्रसिद्ध गद्यकार, उपन्यासकार, व्यंग्यकार, पत्रकार मनोहर श्याम जोशी का 2006 में निधन हुआ।

🔖30 मार्च के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव –

★राजस्थान दिवस

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved