Satya Darshan

न्याय से जगी गरीबों मे आस, राहुल ने कहा यह स्कीम है गरीबी पर दूसरा और अंतिम प्रहार

मार्च 26, 2019

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दो दिन पहले किया था बड़ा ऐलान. उन्होंने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो देश के करीब 25 करोड़ लोगों को सालाना 72,000 रुपये की वित्तीय सहायता दी जाएगी. पार्टी की न्यूनतम आय गारंटी योजना, 'न्याय' के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि इसके तहत देश के 20 फीसदी गरीब परिवारों को हर साल 72,000 रुपये दिए जाएंगे.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह स्कीम 'गरीबी पर अंतिम प्रहार' साबित होगी. उन्होंने कहा कि यह स्कीम उन लोगों के लिए मददगार साबित होगी, जिनकी इनकम 12,000 रुपये प्रति महीने से कम है.

मिनिमम इंकम गारंटी योजना है क्या

राहुल गांधी के मुताबिक, अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो मिनिमम इनकम गारंटी स्कीम लागू की जाएगी. इस स्कीम के तहत सरकार हर नागरिक को हर महीने एक निश्चित रकम देगी. यह रकम कितनी हो यह गरीबी रेखा के मानक से तय किया जाएगा.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मुताबिक, “हिंदुस्तान में अगर मिनिमन इनकम से कम आमदनी है तो सभी की आय बढ़ाने की कोशिश करेंगे, जिससे उन्हें गरीबी से निकाला जा सके.”

किसे मिलेगा फायदा

👉 मिनिमम इनकम गारंटी स्कीम का फायदा 12,000 रुपये तक की मासिक आय वाले परिवारों को मिलेगा

👉 देश में 20 फीसदी सबसे गरीब परिवारों को दिया जाएगा स्कीम का लाभ

👉 स्कीम के तहत लाभार्थियों को हर महीने छह हजार रुपये दिए जाएंगे

👉 लाभार्थियों को स्कीम से सालाना 72000 रुपये का लाभ होगा

👉 स्कीम के लाभार्थियों को दिए जाने वाली ये रकम सीधे उनके बैंक खातों में डाल दी जाएगी.

👉 यह योजना चरणबद्ध तरीके से चलाई जाएगी.

👉 स्कीम का लाभ 5 करोड़ परिवारों को मिलेगा

👉 इस स्कीम से गरीब परिवारों के 25 करोड़ लोग लाभान्वित होंगे

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो उसकी महत्वाकांक्षी न्यूनतम आय गारंटी योजना के तहत देश के करीब 25 करोड़ लोगों को प्रत्येक वर्ष 72,000 रुपये की वित्तीय सहायता मिलेगी। पार्टी ने इस योजना का नाम 'न्याय' रखा है।

विस्तार से जानकारी देते हुए राहुल ने कहा कि इसके तहत देश के 20 प्रतिशत गरीब परिवारों को 72,000 रुपये प्रति वर्ष दिए जाएंगे। इस योजना का सीधे पांच करोड़ परिवारों और 25 करोड़ लोगों को फायदा होगा।

यहां कांग्रेस कार्यसमिति की एक बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यह 'गरीबी पर अंतिम प्रहार' साबित होगी। इसके साथ ही उन्होंने इस योजना को 'दुनिया में अद्वितीय' बताया।

उन्होंने कहा कि यह उन लोगों की आय में योगदान देगी जिनकी आय 12,000 रुपये प्रति माह से कम है।

राहुल ने प्रेस वार्ता की शुरुआत में कहा, "कांग्रेस वादा करती है कि 20 प्रतिशत गरीब परिवारों को प्रत्येक वर्ष 72,000 रुपये दिए जाएंगे। यह राशि सीधे 20 प्रतिशत गरीब परिवार के खाते में जाएगी।"

राहुल ने कहा, "न्यूनतम आय का स्तर 12,000 रुपये रखा गया है। अगर आय 6,000 रुपये है तो हम इसमें राशि मिलाएंगे। जो भी 12,000 रुपये से कम कमाते हैं, हम उनकी आय को 12,000 रुपये तक लेकर आएंगे।"

राहुल ने कहा कि इस परियोजना को चरणों में लागू किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि यह योजना आर्थिक रूप से पूरी तरह संभव है और इस बाबत पूरा हिसाब बैठा लिया गया है। कांग्रेस ने मामले में शीर्ष आर्थिक विशेषज्ञों के साथ विस्तृत चर्चा कर ली है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "यह हो सकने लायक कार्य है और हम इसे करने जा रहे हैं।"

राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पीएम-किसान योजना को लेकर निशाना साधा और कहा कि इससे बमुश्किल ही किसानों को सहायता प्राप्त होगी।

उन्होंने कहा, "आपको गुमराह किया जा रहा है। अगर मोदी अमीरों को पैसे दे सकते हैं तो, कांग्रेस इसे गरीबों को भी दे सकती है। हमारे जेब को रोज काटा जा रहा है।"

उन्होंने कहा, "हमने मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में अपने ऋणमाफी के वादे को निभाया है।"

राहुल ने मनरेगा का संदर्भ देते हुए कहा कि संप्रग सरकार ने ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत 14 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला।

उन्होंने कहा, "यह दूसरा और अंतिम अभियान है। हम 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर लाएंगे। यह विचार गरीबी पर अंतिम प्रहार साबित होगा।"

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved