Satya Darshan

मां गंगा के निर्मलीकरण का लिया संकल्प, तुलसी घाट पर मानव श्रृंखला बना ली शपथ

दैनिक दर्शन न्यूज

वाराणसी | मार्च 26, 2019

तुलसी घाट पर मां गंगा को प्रदूषण मुक्त कराने के लिए बनाई गई मानव श्रृंखला, निर्मल बनाने का लिया संकल्प। 

संकट मोचन फाउंडेशन एवं मदर्स फॉर मदर के संयुक्त तत्वाधान में मंगलवार को तुलसी घाट पर मानव श्रृंखला बनाकर मां गंगा को प्रदूषण मुक्त कराने का संकल्प लिया गया समारोह का शुभारंभ वरिष्ठ साहित्यकार एवं भोजपुरी के ख्यातिलब्ध गीतकार पंडित हरिराम द्विवेदी ने "मर्यादा है इस देश की पहचान है गंगा" गीत की सुंदर प्रस्तुति करके किया। 

इसके पश्चात मुख्य अतिथि वाराणसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की पत्नी श्रीमती काम्या कुलकर्णी  संकट मोचन फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रोफेसर विशंभर नाथ मिश्र, विशिष्ट अतिथि नारी अभ्युदय संस्थान की अध्यक्षा श्रीमती रीता जयसवाल एवं मदर्स फॉर मदर की संस्थापक अध्यक्ष श्रीमती आभा मिश्रा  सहित घाट पर उपस्थित सैकड़ों लोगों ने एक दूसरे का हाथ पकड़कर मानव श्रृंखला बनाई और गंगा को प्रदूषण मुक्त कराने का संकल्प लिया।  

इस अवसर पर संकट मोचन फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रोफेसर विशंभर नाथ मिश्र ने कहा कि,

"मां गंगा इस देश की जीवन रेखा है यह हमारी संस्कृति एवं सभ्यता की प्रतीक है आज प्रदूषित हो कर समाप्ति के कगार पर खड़ी हैं इसे बचाने के लिए हम सभी को प्रयास करना होगा। हमारा यह प्रयास हो कि गंगा में मल जल ना बहे, जो भी मल जल जाए, वह शोधित होकर जाए, मां गंगा का जल आचमन और पीने योग्य हो, संकट मोचन फाउंडेशन का हमेशा से यह प्रयास रहा है कि गंगा प्रदूषण मुक्त होकर अविरल और निर्मल बहे। आज हम मानव श्रृंखला बनाकर यह संकल्प लेते हैं कि हम मां गंगा को प्रदूषण मुक्त कर उसे अविरल और निर्मल बनाएंगे।" 

इसके पूर्व मदर्स फॉर मदर के तत्वाधान में माताओं ने भी बढ़ाया मां गंगा के लिए कदम विषयक गोष्ठी आयोजित की गई की गई। गोष्ठी को मुख्य अतिथि एसएसपी की पत्नी श्रीमती काम्या कुलकर्णी ने संबोधित करते हुए कहा कि मां गंगा के लिए सभी को आगे आना होगा तभी मां गंगा हमारी प्रदूषण मुक्त होंगी। वहीं गोष्टी की विशिष्ट अतिथि अभ्युदय संस्थान की अध्यक्षा रीता जयसवाल ने कहा कि मां गंगा सिर्फ एक नदी नहीं है हमारी जीवन रेखा है इसे हमें हर हाल में बचाना होगा। 

गोष्ठी की अध्यक्षता कर रही मदर फॉर मदर की संस्थापक अध्यक्ष श्रीमती आभा मिश्रा ने कहा कि, 

"मां गंगा हमारे जीवन का आधार है अगर प्रदूषण मुक्त नहीं होंगी तो हम लोग का जीवन बचना भी मुश्किल है।" 

श्रीमती आभा मिश्रा ने कहा कि इस बार संयुक्त राष्ट्र संघ का विश्व जल दिवस पर स्लोगन था स्वच्छ जल के लिए कोई मोहताज ना हो, हमारे लिए तो मां गंगा ही सब कुछ है और हम यह निवेदन करते हैं कि मां गंगा को इतना स्वच्छ कर दिया जाए कि वह सभी के आसमान और पीने के योग्य हो। 

कार्यक्रम का संचालन राजेंद्र दुबे ने किया इस अवसर पर हरिराम द्विवेदी, विजय शंकर पांडे, समाजसेवी रामयश मिश्र, पं. सतीश चंद्र मिश्र, माधव उपाध्याय, अशोक पांडे, राजेश मिश्रा सहित विभिन्न स्कूलों के बच्चे शामिल थे। 

धन्यवाद संकट मोचन फाउंडेशन के निदेशक एवं बीएचयू आईटी के पूर्व निदेशक प्रोफेसर एसएन उपाध्याय ने किया।

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved