Satya Darshan

अखिलेश को रोका जाना कहीं सपा भाजपा की मीडिया मे बने रहने की कवायद तो नहीं?

कांंग्रेस रोड शो को मिली मीडिया तरजीह से घबराई सपा भाजपा मिलकर रची ये नौटंकी...

देश और प्रदेश की राजनीति में पलपल कुछ न कुछ नया घटित हो रहा है और यह सिलसिला बदस्तूर चुनाव तक चलता रहेगा। ताजा घटनाक्रम के अनुसार समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोक दिया गया।

प्रदेश सरकार का मानना है कि उनके वहां जाने से कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है क्योंकि कुंभ आयोजन के कारण प्रशासनिक मशीनरी पर दबाव है। लिहाजा उनको वहां छात्रसंघ के कार्यक्रम में जाने से रोका गया। अभी कुछ दिन पहले श्री योगी आदित्यनाथ को बंगाल जाने से ममता दीदी ने रोका था।

राजनीति के गलियारे में खूब होहल्ला मचाने वाले योगी जी का श्री अखिलेश यादव को रोकना किस उद्देश्य की पूर्ति के लिए है? लगता है वर्तमान मुख्यमंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री ने आपसी समझ से मीडिया का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए यह सब किया है।

कल का पूरा दिन कांग्रेस के कार्यक्रम को मीडिया कवरेज मिला। इस वजह से मीडिया का रुख अपनी ओर मोड़कर अपने परसेप्शन को बनाये रखना बेहद जरूरी हो गया था शायद इसी वजह से आज अखिलेश यादव को रोक गया और वे भी इसे सड़क से सदन तक तूल देने में लग गए।

ज्ञात हो कि 2015 में कुछ इसी अंदाज में अखिलेश यादव ने योगी जी को इलाहाबाद में प्रवेश करने से रोका था। मतलब साफ है सुविधा की राजनीति जारी है नैतिकता तो सिर्फ मंच से अच्छी लगती है।

✍️डा. सन्तोष मिश्र
    प्राध्यापक,
    पीजी कॉलेज, भुड़कुड़ा,
    गाज़ीपुर

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved