Satya Darshan

महात्मा गांधी ने दक्षिण मे हिंदी प्रचार प्रसार का जो स्वप्न देखा था उसका विस्तार मेरी पहली प्राथमिकता: नवनियुक्त कुलपति प्रो. राममोहन पाठक

वाराणसी.6 फरवरी
महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा आज दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा, चेन्नई के नवनियुक्त कुलपति प्रोफेसर राम मोहन पाठक जी का अभिनंदन समारोह आयोजित किया गया। 

इस अवसर पर स्वागत से अविभूत प्रो. राम मोहन पाठक जी ने कहा कि दक्षिण में हिंदी के प्रचार-प्रसार का जो स्वप्न देखकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा को स्थापित किया उसको विस्तार देना मेरी प्राथमिकता होगी। 

प्रो. पाठक ने बताया कि गांधी जी की प्रेरणा से स्थापित महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ तथा दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा में  शिक्षा और शोध के स्तर पर आपसी सहयोग एवं संवाद होना चाहिए । 

कर्म की प्रधानता के महत्व को रेखांकित करते हुए प्रो. राम मोहन पाठक ने कहा कि  विनम्रता को व्यवहार में समादृत करते हुये अध्ययन-चिंतन निरन्तर करते रहना चाहिये।  

अभिनंदन समारोह में संस्कृत विभाग के प्रोफेसर राममूर्ति चतुर्वेदी ने कहा कि प्रोफ़ेसर राम मोहन पाठक अत्यंत शालीन एवं गरिमामय  व्यक्तित्व के धनी व्यक्ति हैं ।

अध्यक्षता करते हुए पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रोफेसर अनिल कुमार उपाध्याय ने  प्रोफेसर राममोहन पाठक को पत्रकारिता जगत के वरिष्ठतम प्रोफेसर में एक बताया। 

प्रोफेसर उपाध्याय ने कहा कि विद्यापीठ के पत्रकारिता विभाग एवं पत्रकारिता संस्थान को विकसित करने में प्रोफेसर पाठक की अहम भूमिका रही है। काशी हिंदू विश्वविद्यालय में जनसंपर्क अधिकारी के रूप में भी इन्होंने स्मरणीय सेवा दी। 

इतिहास विभाग के प्रोफेसर अशोक सिंह ने कहा कि प्रोफेसर राममोहन पाठक को काशी के प्रतिनिधि स्वरूप दक्षिण भारत में राष्ट्रभाषा की सेवा करने का अवसर प्राप्त हुआ है। 

प्रोफेसर राजीव द्विवेदी ने कहा कि प्रोफेसर पाठक ने काशी विद्यापीठ का मान बढ़ाया है। 

प्रोफेसर दिवाकर लाल श्रीवास्तव ने प्रोफेसर पाठक को कुलपति बनने को ऐतिहासिक बताया। 

दर्शनशास्त्र के प्रोफेसर राजेश मिश्र ने कहा कि राममोहन पाठक अत्यंत धार्मिक एवं राष्ट्र भाषा के प्रति समर्पित व्यक्तियों में से एक है। 

अंग्रेजी विभाग के नलिनी श्याम कामिल ने कहा कि प्रो. राम मोहन पाठक जी अत्यंत सरल एवं सहज व्यक्ति हैं। 

पत्रकारिता विभाग के प्रभारी डॉ अरुण कुमार शर्मा ने कहा कि काशी के शिक्षक, छात्र एवं पत्रकार अपने को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

पत्रकारिता विभाग के प्राध्यापक डॉ. विनोद कुमार सिंह ने समारोह का संचालन करते हुए कहा कि प्रो. राममोहन पाठक जी हिन्दी पत्रकारिता के शीर्ष व्यक्तियों में से एक हैं। 

धन्यवाद ज्ञापन करते हुए डॉ प्रभा शंकर मिश्र ने कहा कि प्रोफेसर राममोहन पाठक जी हिंदी पत्रकारिता के बुद्ध है। राष्ट्रभाषा हिंदी के अनन्य सेवक प्रोफेसर राममोहन पाठक काशी से कन्याकुमारी तक हिंदी के लिए सेतु है।

कार्यक्रम में डॉ सुरेंद्र वर्मा , डॉ. सुरेश चौबे , डॉ. परमात्मा कुमार मिश्र, डॉ. रजनीश कुमार चतुर्वेदी, डॉ. केदारनाथ , डॉ.गोपाल यादव, डॉ. निजामुद्दीन, राम सुधार , सुभाष राम ने अपने विचार रखे। 

इस अवसर पर नवनियुक्त कुलपति प्रो राम मोहन पाठक जी को अंगवस्त्रम एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर विद्यापीठ परिवार की तरफ से हार्दिक शुभकामनाएँ दी गई।

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved