Satya Darshan

28 जनवरी: इतिहास में आज क्या है खास

नासा के अंतरिक्ष अभियान को उस वक्त पहला झटका लगा था जब आज ही के दिन चैलेंजर नामक अंतरिक्ष शटल उड़ान भरते ही हादसे का शिकार हो गया। इस हादसे में सभी 7 अंतरिक्ष यात्रियों की मौत हो गई थी।

इंसान की अंतरिक्ष में उड़ान की कोशिशों को आज ही के दिन बड़ा झटका लगा था। 28 जनवरी 1986 को नासा का अंतरिक्ष शटल यान चैलेंजर हादसे का शिकार हुआ था। अमेरिकी समय के मुताबिक सुबह 11.38 मिनट पर चैलेंजर ने फ्लोरिडा के केप कैनेवेरल से उड़ान भरी थी। 

इस शटल यान में छह अंतरिक्ष यात्रियों के अलावा क्रिस्ट मैकऑलिफ भी सवार थीं। मैकऑलिफ पेशे से टीचर थीं और वह पहली अमेरिकी नागरिक बनने जा रही थीं, जो अंतरिक्ष की यात्रा करती। इस उड़ान को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग स्पेस सेंटर के पास मौजूद थे, जिसमें कई स्कूली बच्चे अपनी टीचर मैकऑलिफ और छह दूसरे अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में जाते देखने के लिए जमा हुए थे।

चैलेंजर शटल उड़ान भरने के 73 सेकेंड बाद ही हादसे का शिकार हो गया और उसमें सवार सारे अंतरिक्ष यात्री मारे गए। मैकऑलिफ ने एक प्रतियोगिता जीतकर दूसरे अंतरिक्ष यात्रियों के साथ अंतरिक्ष में जाने का मौका पाया था। लेकिन उनका सपना आग के गोलों के साथ जलकर खाक हो गया। स्पेस सेंटर के पास खड़े सैकड़ों लोग और टीवी पर सीधा प्रसारण देख रहे लाखों लोग इस हादसे के गवाह बने।

इस हादसे के बाद अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति रोनॉल्ड रीगन ने एक विशेष आयोग का गठन किया। आयोग को यह पता लगाना था कि चैलेंजर के साथ आखिर क्या हुआ और कि भविष्य में ऐसी दुर्घटनाओं से बचने के लिए क्या सुधार किए जाने चाहिए।

जांच में पता चला कि यान में लगे सॉलिड ईंधन रॉकेट की "ओ रिंग" सील के काम नहीं कर पाने के कारण विस्फोट हुआ। इस हादसे से नासा की साख पर गहरा आघात हुआ। इसकी भरपाई के लिए एंडेवर नाम के अंतरिक्ष शटल को प्रक्षेपित किया गया। 

उसके 17 साल बाद 1 फरवरी 2003 को ऐसा ही एक हादसा और हुआ। इस दिन कोलंबिया अंतरिक्ष शटल के ध्वस्त होने से एक बार फिर नासा को गहरा झटका लगा। इस हादसे से भारत में भी शोक की लहर फैल गई क्योंकि इस दुर्घटना में भारतीय मूल की प्रथम महिला अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला का भी निधन हो गया।

28 जनवरी की अन्य महत्त्वपूर्ण घटनाएँ –

रूस में रोमानोफ़ परिवार के तीसरे नरेश पीटर महान का 53 वर्ष की आयु में 1725 में निधन हुआ।

यूनाइटेड किंगडम में 1813 में पहली बार ‘प्राइड एंड प्रेजुडिस’ किताब का प्रकाशन हुआ।

सर स्टैमफोर्ड रैफल्स ने 1819 में सिंगापुर की खोज की।

पश्चिम बंगाल में कलकत्ता मेडिकल कॉलेज की 1835 में शुरु हुआ।

ब्रिटिश सेना ने 1846 में अलीवाल के युद्ध में रंजोध सिंह की सेना को हराया।

युनाइटेड स्टेट्स में प्रकाशित होने वाला पहला दैनिक समाचारपत्र ‘येल डेली न्यूज़’ 1878 में बना।

पहला टेलीफोन एक्सचेंज अमेरिका के न्यू हेवन में 1878 में बना।

फ्रांस की राजधानी पेरिस में एफिल टॉवर का काम 1887 में शुरू।

अमेरिका का नियंत्रण क्यूबा पर से 1909 में समाप्त हो गया।

जापानी सेना ने शंघाई (चीन) पर 1932 में कब्ज़ा किया।

चौधरी रहमत अली ख़ाँ ने 1933 में मुस्लिम लीग की मांग के तहत बनने वाले अलग राष्ट्र के लिए पाकिस्तान का नाम सुझाया।

आइसलैंड में गर्भपात को 1935 में क़ानूनी स्वीकृति देने वाला पहला देश बना।

लीबिया के बेंगाजी पर जर्मनी की सेना ने 1942 में कब्जा किया।

एडोल्फ़ हिटलर ने 1943 में  के सभी युवकों को फ़ौज में जबरन भर्ती का आदेश दिया।

न्यायाधीश हीरालाल कानिया ने 1950 में उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश का पद सम्भाला।

एचएमटी घड़ियों की पहली फैक्ट्री 1961 में बेंगलुरु में शुरू की गयी।

अमेरिकी अंतरिक्ष यान 1962 में चांद पर पहुँचने में असफल रहा।

अल्ज़ीरिया में तीन दशक तक सत्ता में रहने के बाद ‘नेशनल लिबरेशन फ़्रंट’ ने 1992 में इस्तीफ़ा दिया।

चेचेन्या के विद्रोही नेता जनरल असलन मस्कादेपू काकेशियाई गणराज्य के राष्ट्रपति 1997 में चुने गये।

‘राजीव गांधी हत्याकांड’ में 26 अभियुक्तों को 1998 में मृत्युदंड दिया गया।

28 जनवरी को जन्मे व्यक्ति – 

जर्मनी के संगीतकार जार्ज फ़्रेडरेक हेंडल का जन्म 1684 में हुआ।

पंजाब केसरी के नाम से मशहूर और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के नेता लाला लाजपत राय का पंजाब में जन्म 1865 में हुआ।

मोरक्को के राष्ट्रवादी और स्वतंत्रताप्रेमी नेता अमीर अब्दुल करीम रीफ़ी का जन्म 1882 में हुआ।

भारतीय सेना के पहले भारतीय सेनाध्यक्ष फील्ड मार्शल के.एम. करिअप्पा का जन्म 1899 में हुआ।

गुजराती साहित्यकार राजेन्द्र शाह का जन्‍म 1913 में हुआ था।

हरियाणा के भूतपूर्व मुख्यमंत्री तथा उड़ीसा और मध्य प्रदेश के भूतपूर्व राज्यपाल भगवत दयाल शर्मा का जन्‍म 1918 में हुआ था।

देश के प्रमुख फिजिसिस्ट राजा रामन्‍ना का जन्‍म 1928 में हुआ था।

शास्‍त्रीय गायक पंडित जसराज का जन्‍म 1930 में हुआ था।

पार्श्व गायिका सुमन कल्याणपुर का जन्‍म 1937 में हुआ था।

28 जनवरी को हुए निधन –

1984 में प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता तथा फ़िल्म निर्माता-निर्देशक सोहराब मोदी का निधन।

1939 में आयरिश कवि ‘विलियम बटलर योटस’ का निधन।

1996 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष देवकान्त बरुआ का निधन।

2007 में मशहूर संगीतकार ओ.पी. नैयर का निधन।

2017 में भारतीय मूल की प्रसिद्ध लेखिका भारती मुखर्जी का निधन।

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved