Satya Darshan

14 जनवरी: इतिहास मे आज क्या है खास

प्रसिद्ध वेदांती, संगीतज्ञ, दार्शनिक और नोबेल शांति पुरस्कार विजेता अलबर्ट श्वाइत्सर का जन्म 14 जनवरी, 1875 को हुआ था। श्वाइत्सर एल्सेस प्रांत में पैदा हुए जो तब जर्मनी में था लेकिन बाद में फ्रांस का हिस्सा बना।

अलबर्ट श्वाइत्सर ने दर्शन और थीयोलॉजी की पढ़ाई स्ट्रासबुर्ग, पेरिस और बर्लिन की यूनिवर्सिटी में की। एक पादरी के रूप में काम करने के बाद उन्होंने मेडिकल स्कूल में दाखिला लिया। इस ट्रेनिंग के बाद वह अफ्रीका में धर्म-प्रचारक बनना चाहते थे। 

श्वाइत्सर को संगीत की भी खूब समझ थी और वे अपनी पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए कॉन्सर्ट में संगीत आयोजन कर पैसे कमाया करते थे। 

जब तक उनकी मेडिकल की पढ़ाई पूरी हुई और एमडी की डिग्री मिली, उनकी कई किताबें प्रकाशित हो चुकी थीं। इनमें ईसा मसीह पर उनकी प्रसिद्ध किताब 'दि क्वेस्ट' और संगीतकार योहान सेबास्टियन बाख पर लिखी एक किताब भी शामिल हैं।

मेडिकल की पढ़ाई पूरी कर श्वाइत्सर अपनी पत्नी समेत अफ्रीका चले गए। लैम्बारिनी में उन्होंने एक अस्पताल की स्थापना की। कुछ ही समय बाद प्रथम विश्व युद्ध छिड़ गया। जर्मनी में पैदा हुए श्वाइत्सर को युद्ध बंधक के रूप में एक फ्रेंच नजरबंदी कैंप में भेज दिया गया। 1918 में वहां से छोड़े जाने के बाद वे 1924 में लैम्बारिनी वापस लौटे। 

अगले तीन दशकों तक वह यूरोप भर में जगह जगह संस्कृति और नैतिकता के विषयों पर भाषण देते रहे. उनका दर्शन एक मूल सिद्धांत पर आधारित था और वह इसे "जीवन के सम्मान" का सिद्धांत कहते थे। 

विचार यह था कि हर जीवन को सम्मान और प्यार मिलना चाहिए। सभी इंसानों को ब्रह्मांड और उसकी सभी कृतियों के साथ व्यक्तिगत और आध्यात्मिक संबंध रखना चाहिए। श्वाइत्सर के अनुसार जीवन के प्रति श्रद्धा रखने से सभी इंसान अपने आप एक ऐसा जीवन जीने लगेंगे जो दूसरों की सेवा में समर्पित होगा।

अफ्रीका में मरीजों की सेवा के दौरान उन्होंने कुष्ठ और दूसरे कई तरह के खतरनाक रोगों का इलाज किया। 1952 में अपने इन्हीं कामों के लिए उन्हें नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इनाम की राशि का इसतेमाल भी उन्होंने कुष्ठ रोगियों की बेहतरी के लिए ही किया। 1950 से लेकर 1965 में अपने देहांत तक श्वाइत्सर न्यूक्लियर टेस्ट और न्यूक्लियर हथियारों के विरूद्ध लिखते रहे।

14 जनवरी की अन्य महत्त्वपूर्ण घटनाएँ – 

पोप लियो एक्स ने 1514 में दासता के विरुद्ध आदेश पारित किया।

यूनाइटेड ईस्ट इंडिया कंपनी ने 1641 में मलक्का शहर पर विजय प्राप्त की।

1659 में हुए एलवास के युद्ध में पुर्तग़ाल ने स्पेन को पराजित किया।

फ्रांसीसी जनरल लेली ने 1760 में पांडिचेरी अंग्रेज़ों के हवाले कर दिया।

भारत में मराठा शासकों और अहमदशाह दुर्रानी के बीच 1761 में पानीपत का तीसरा युद्ध हुआ।

अमरीका ने ब्रिटेन के साथ 1784 में शांति संधि की पुष्टि की।

इंग्लैंड और स्पेन ने 1809 में ‘नेपोलियन बोनापार्ट‘ के ख़िलाफ़ गठबंधन किया।

नेपोलियन तृतीय की हत्या की साजिश का 1858 में भंडाफोड़ हुआ।

पेरू ने स्पेन के ख़िलाफ़ 1867 में जंग का ऐलान किया।

1907 में हुए जमैका में भूकंप से किंगस्टन शहर तबाह हो गया और लगभग 900 से अधिक लोग मारे गये।

रेमंड पोंकारे 1912 में फ्रांस के प्रधानमंत्री बने।

फ्रांस के पूर्व प्रधानमंत्री जोसेफ कैलाक्स को 1918 में देशद्रोह के आरोप में गिरफ़्तार किया गया।

ईरान में मुहम्मद सईद ने 1950 में सरकार का गठन किया।

जगदगुरु कृपालु महाराज ने 1954 में 7 दिनों तक 500 से ज्यादा हिन्दू विद्वानों के समक्ष भाषण दिया। उन्हें पाँचवाँ जगदगुरु चुना गया।

अल्जीरिया के शहरों में 1962 में हुए आतंकवादी हमलों में 6 लोग मारे गये।

इंडोनेशिया ने 1966 में राष्ट्रसंघ स्थित अपना मिशन बंद कर दिया।

1969 में भारत के दक्षिणी राज्य मद्रास का नाम बदलकर तमिलनाडु किया गया।

विश्व फुटबाल लीग की स्थापना 1974 में की गयी।

सोवियत संघ ने अमेरिका के साथ व्यापार समझौते को 1975 में समाप्त किया।

श्रीमती इंदिरा गाँधी ने 1982 में 20सूत्री कार्यक्रम की घोषणा की।

ग्वाटेमाला में विनिसियों केरजो 1986 में 6 वर्षों में पहले असैनिक राष्ट्रपति बने।

मध्य अमेरिकी देश ग्वाटेमाला में 1986 में संविधान लागू हुआ।

1989 से इलाहबाद में बारह वर्ष बाद कुम्भ का मेला प्रारम्भ हुआ।

इज़रायल ने जार्डन के साथ 1992 में शांतिवार्ता शुरू की।

यूक्रेन, रूस तथा संयुक्त राज्य अमेरीका द्वारा मास्को में परमाणु अस्त्र कम करने सम्बन्धी समझौते पर 1994 में हस्ताक्षर।

भारत का पहला अत्याधुनिक ‘हवाई यातायात परिसर’, दिल्ली राष्ट्र को 1999 में समर्पित किया गया।

कम्प्यूटर के बादशाह बिल गेट्स ने 2000 में स्टीव वाल्मर को विश्व की सबसे बड़ी कम्प्यूटर साफ़्टवेयर कम्पनी सौंपी।

नेपाल में अंतरिम संविधान को 2007 में मंजूरी मिली।

सरकार ने विदेशी पत्रों के फेसीमाइल (प्रति) संस्करणों से शत-प्रतिशत विदेशी निवेश को मंज़ूरी देने की 2009 में घोषणा की।

14 जनवरी को जन्मे व्यक्ति –

1551 को मुग़ल साम्राज्य में अकबर के नवरत्नों में से एक अबुल फ़जल का जन्म हुआ।

1804 में मशहूर संगीतकार जॉन पार्क का जन्म हुआ।

1886 में समाज सुधारक मंगूराम का जन्म हुआ।

1896 में ब्रिटिश शासन के अधीन आई.सी.एस. अधिकारी और स्वतंत्रता के बाद भारत के तीसरे वित्त मंत्री सी. डी. देशमुख का जन्म हुआ।

1905 में हिन्दी व मराठी फ़िल्मों की प्रसिद्ध अभिनेत्री दुर्गा खोटे का जन्म हुआ।

1918 में पुर्तग़ाली साम्राज्यवादियों से गोवा की मुक्ति के स्वतंत्रता संग्राम की प्रमुख नेता सुधाताई जोशी का जन्म हुआ।

1926 में भारत की सामाजिक कार्यकर्ता और लेखिका महाश्वेता देवी का जन्म हुआ।

1942 में भारत के सर्वोच्च न्यायालय के 36वें भूतपूर्व मुख्य न्यायाधीश योगेश कुमार सभरवाल का जन्म हुआ।

1967 में अमेरिकी अभिनेत्री एमिली वॉटसन का जन्म हुआ।

1977 में भारत के एकमात्र फ़ॉरमूला वन चालक नारायण कार्तिकेयन का जन्म हुआ।

14 जनवरी को हुए निधन –

1742 में एडमंड हैली का निधन हुआ जो एक प्रसिद्ध खगोलशास्त्री थे।

1937 में जयशंकर प्रसाद का निधन हुआ जो हिन्दी साहित्यकार थे।

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved