Satya Darshan

इंदौर: मध्यप्रदेश की व्यावसायिक राजधानी बनने जा रही है 'डिस्पोजेबल-फ्री'

इंदौर | जुलाई 29, 2019

इंदौर में डिस्पोजेबल बर्तनों का उपयोग न करने वालों को जरूरत के मुताबिक बर्तन उपलब्ध कराए जाए रहे हैं.

इसी क्रम में मध्यप्रदेश की व्यावसायिक राजधानी इंदौर को "डिस्पोजेबल फ्री" बनाने की मुहिम तेज कर दी गई है. इसके लिए नगर निगम ने 'बर्तन बैंक' भी बनाया है. जो व्यक्ति अपने आयोजनों में डिस्पोजेबल बर्तनों का उपयोग नहीं करता, उसे इस बैंक से स्टील के बर्तन उपलब्ध कराए जा रहे हैं, जिनका उन्हें कोई किराया नहीं देना होता है.

विभिन्न आयोजन भी कचरा बढ़ाते हैं क्योंकि इन आयोजनों में खाने के लिए डिस्पोजेबल बर्तनों का उपयोग किया जाता है. इससे कचरा फैलने के साथ कचरा जमा करने वालों का काम बढ़ जाता है. इसे कम करने के लिए नगर निगम ने बर्तन बैंक की शुरुआत की है.

नगर निगम आयुक्त आशीष सिंह ने बताया कि विवाह, जन्मदिन से लेकर विविध तरह के आयोजनों में डिस्पोजेबल बर्तनों का इस्तेमाल कम हो, इसके लिए बर्तन बैंक बनाया गया है. इस प्रयोग से जहां पर्यावरण को लाभ होगा, वहीं लोगों में जागरूकता भी आएगी. 

नगर निगम ने यह बर्तन बैंक एक गैर सरकारी संगठन बेसिक्स के साथ मिलकर शुरू किया है. संबंधित व्यक्ति को इस बैंक को बताना होता है कि उसने डिस्पोजेबल बर्तन का उपयोग न करने का फैसला किया है. लिहाजा उसे बर्तन उपलब्ध कराए जाएं.

बेसिक्स के डायरेक्टर गोपाल जगताप का कहना है कि इंदौर को डिस्पोजेबल और प्लास्टिक फ्री बनाने के मकसद से यह बर्तन बैंक शुरू किया गया है. यहां लोगों को बर्तन दिए जा रहे हैं, जिसका उन्हें किराया नहीं देना होता. यहां से बर्तन लेने वालों के लिए सिर्फ एक ही शर्त रहेगी कि वे अपने आयोजन में डिस्पोजेबल बर्तन का उपयोग नहीं करेंगे.

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved