Satya Darshan

साध्वी प्रज्ञा का विवादित बयान, कहा- हम नाली, शौचालय साफ कराने के लिए नहीं बनें हैं सांसद

सीहोर, म.प्र. | जुलाई 22, 2019

बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर एक बार फिर चर्चा में हैं. वजह बना है उनका एक बयान जिसे लेकर विवाद खड़ा हो गया है. दरअसल सीहोर में एक कार्यक्रम के दौरान प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि ‘ध्यान रखिए, हमें नाली साफ करवाने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है. हमें आपके शौचालय साफ करवाने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है. हम जिस काम के लिए बनाए गए हैं, वह काम हम ईमानदारी से करेंगे.

प्रज्ञा ठाकुर का बयान ऐसे समय में आया है जब प्रधानमंत्री मोदी स्वच्छता को लेकर जागरूकता फैला रहे हैं. बीते दिनों बीजेपी सांसद अनुराग ठाकुर और हेमा मालिनी ने संसद परिसर में झाड़ू लगाकर सफाई करते भी नज़र आये थे.

वैसे यह कोई पहला मौका नहीं है जब प्रज्ञा ठाकुर विवादित बयान को लेकर घिरती नज़र आ रही हैं. इससे पहले उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ करार दिया था. उनके इस बयान से देश की राजनीति में भूचाल आ गया था. और तो और बीजेपी भी उनके इस बयान को लेकर उनसे कन्नी कटती नज़र आई थी. इसके अलावा उन्होंने मुंबई एटीएस प्रमुख हेमंत करकरे को लेकर भी विवादित बयान दिया था. उनका कहना था कि उन्होंने हेमंत करकरे को श्राप दिया था और इसके एक माह बाद आतंकवादियों की गोलियों से उनकी मौत हो गयी.

वहीं एक दूसरे बयान में साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि अध्योध्या में राम मंदिर निर्माण आंदोलन के दौरान बाबरी ढांचा ढहाने में शामिल होने पर मुझे गर्व है. चुनाव आयोग ने साध्वी के शहीद करकरे पर दिये गये बयान पर कार्रवाई करते हुए उनके चुनाव प्रचार पर 72 घंटे के लिये प्रतिबंध लगा दिया था.

लोकसभा चुनाव से पहले प्रज्ञा ठाकुर ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ करार देकर भूचाल ला दिया था. फिल्म अभिनेता और तमिलनाडु की राजनीति में सक्रिय कमल हासन ने गोडसे को लेकर आए बयान पर प्रतिक्रया मांगी गई तो उन्होंने कहा था, “नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे. आतंकवादी कहने वाले लोग स्वयं के गिरेबान में झांककर देखें, अबकी चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा.”

प्रज्ञा सिंह ठाकुर के इस बयान पर विवाद मचते ही उनकी पार्टी बीजेपी ने किनारा कर लिया और मध्य प्रदेश के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने कहा, “साध्वी ने कौन-सी बात किस परिस्थिति में कही है, इस बात की हमें जानकारी नहीं है. हम इतना जानते हैं कि नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की हत्या की थी और हत्या करने वाले को उसी नजर से देखा जाना चाहिए, बीजेपी का यह मत कतई नहीं हो सकता.”

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved