Satya Darshan

राहुल का इस्तीफा देना BJP के जाल में फंसने जैसा आत्मघाती - लालू प्रसाद यादव

रांची | मई 28, 2019

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने कहा कि राहुल गांधी का कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना आत्मघाती कदम होगा.उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का इस्तीफा देना न केवल कांग्रेस के लिए बल्कि उन दलों के लिए भी आत्मघाती होगा जो संघ परिवार के खिलाफ लड़ रहे हैं.

Lalu Prasad Yadav✔@laluprasadrjd

Rahul’s offer to resign suicidal. Opposition parties had the common goal to dislodge BJP but failed to build a national narrative. The result in a particular election can never alter the reality in as diverse and plural a country as India. Read more..https://www.telegraphindia.com/india/rahuls-offer-to-resign-suicidal-lalu-prasad/cid/1691375 …

2,601

10:16 AM - May 28, 2019

Twitter Ads info and privacy

Rahul’s offer to resign suicidal: Lalu Prasad

Opposition parties had the common goal to dislodge BJP but failed to build a national narrative, the RJD chief stated

telegraphindia.com

771 people are talking about this


एक अखबार से अखबार से बातचीत करते हुए लालू यादव ने कहा कि राहुल गांधी का ऐसा कदम बीजेपी के जाल में फंसने जैसा होगा. उन्होंने कहा कि गांधी-नेहरू परिवार से परे हटकर जैसे ही कांग्रेस अध्यक्ष पद पर कोई काबिज होगा, वैसे ही नरेंद्र मोदी और अमित शाह की ब्रिगेड के लोग उसे कठपुतली करार देना शुरू कर देंगे. और ये लोग अगले आम चुनाव तक उस पर खेलेंगे.

राहुल को अपने राजनीतिक विरोधियों को ऐसा मौका नहीं देना चाहिए? लालू यादव ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी के खिलाफ विपक्ष चुनाव हार गया है. सांप्रदायिक और फांसीवादी ताकतों को हटाने में लगे सभी विपक्षी दलों को अपनी संयुक्त हार स्वीकार करनी होगी. उन्हें इस बात पर विचार करना होगा की आखिर चूक कहां हो गई.

उन्होंने कहा कि सभी विपक्षी पार्टियां बीजेपी को सत्ता से बेदखल करने के लिए एकजुट हुई थीं, लेकिन वो इस पर पूरे देश का नैरेटिव नहीं सेट कर पाईं. विपक्षी दलों ने यह लड़ाई विधानसभा चुनाव की तरह लड़ी. वो खुद को बीजेपी के विकल्प के रूप में नहीं पेश कर पाईं.

बता दें कि लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद से राजद प्रमुख लालू यादव परेशान हैं और वह खाना भी छोड़ चुके हैं, वहीं पांच दिन बाद तक उनसे पार्टी के किसी सीनियर नेता या फिर उनके घरवालों ने भी मुलाकात नहीं की है. रांची के रिम्स में भर्ती लालू यादव की खराब तबियत के बारे में सभी को जानकारी है, लेकिन लोकसभा चुनाव के  नतीजों के बाद से अब तक उनसे मुलाकात करने कोई भी नहीं पहुंचा है.

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved