Satya Darshan

चुनाव में अंकगणित के आगे केमिस्ट्री की हुई जीत - नरेंद्र मोदी

वाराणसी (एसडी) | मई 28, 2019

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के हिंदी पट्टी की पार्टी होने की गलत धारणा को खारिज करते हुए सोमवार को कहा कि लोकसभा चुनावों के नतीजे समूचे भारत में पार्टी की जीत का गवाह है। उन्होंने कहा कि चुनाव में अंकगणित पर केमिस्ट्री की जीत हुई है। 

मोदी ने कहा कि अब राजनीतिक पंडितों को मानना होगा कि अंकगणित के आगे भी एक केमिस्ट्री  होती है। देश में आदर्शों और संकल्पों की जो केमिस्ट्री  है, वह सारे अंकगणित को पराजित कर देती है।  उन्होंने कहा, 'ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है जहां भाजपा का मत प्रतिशत नहीं बढ़ रहा है। हमारी असम में सरकार हैं, लद्दाख में निर्वाचित हो रहे हैं, फिर भी राजनीति पंडित कहते हैं (हमारी) हिंदी पट्टी की राजनीति है, यह गलत धारणा है, जो बनाई गई है।' उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश पूरे देश में लोकतंत्र की नींव को और मजबूत कर रहा है लेकिन राज्य में वर्ष 2014, 2017 और 2019 की भाजपा की चुनावी जीत कोई मामूली चीज नहीं है। 
 
हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में लोगो को धन्यवाद देने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह संग आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंडित दीनदयाल हस्तकला संकुल में कार्यकताओ को संबोधित करते हुए कहा कि देश के लिए मैं प्रधानमंत्री हूं, लेकिन काशीवासियो के लिए मैं आपका सांसद और सेवक हूं। 

मोदी ने हर-हर महादेव के जयकारे के साथ अपने सम्बोधन की शुरुआत करते हुए कहा कि मैं भी भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता होने के नाते पार्टी और कार्यकर्ता जो आदेश करते हैं उसका पालन करने की कोशिश करता हूं। एक महीने पूर्व जब 25 तारीख को मैं यहां आया था तो जिस आन-बान और शान का विश्व रूप जो काशी ने दिखाया था उसने पूरे हिन्दुस्तान को प्रभावित किया। 
 
मोदी ने कहा, '25 की शाम और 26 को जब यहां के प्रबुद्धजनों और कार्यकर्ताओं ने मुझसे कहा था कि एक माह तक आप यहां नहीं आएंगे तो आपका आदेश मेरे सिर माथे था। 18, 19 मई को भी मैं नहीं आया सोचा आप लोग काशी में घुसने नहीं देंगे। इसलिए मैं चला गया कि ये बाबा नहीं तो दूसरे बाबा सही। शायद ही कोई प्रत्याशी इतना निश्चिंत रहा होगा, क्योंकि मैं चुनाव से पहले भी और बाद में भी निश्चिंत था। इस निश्चिंतता का कारण आप लोग ही थे। इसलिए मैं बाबा केदार नाथ की शरण में चला गया। जो शक्ति आपने मुझे दी है वो मिलना सौभाग्य की बात है। यहां पर चुनाव को लोकोत्सव बना दिया। पूरे चुनाव अभियान में तू-तू-मैं-मैं का भाव कम और अपनत्व का भाव अधिक था। इस चुनाव में अलग-अलग दल और निर्दलीय साथी चुनाव मैदान में थे उनका भी आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने भी काशी के अनुरूप चुनाव लड़ा।' 

मोदी ने भाजपा को देश में राजनीतिक हिंसा की सबसे बड़ी शिकार पार्टी करार देते हुए कहा कि इस हिंसा को एक प्रकार से मान्यता दी गई है। 

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved