Satya Darshan

प्रियंका का नाम लेने पर राहुल ने कहा, गांधी परिवार के बाहर का होगा कांग्रेस अध्यक्ष

नयी दिल्ली (एसडी) | मई 26, 2019

करीब चार घंटे तक चली कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक खत्म हो गई. सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी बैठक से बाहर निकले. पार्टी पुनर्गठन करने के लिए राहुल गांधी अधिकृत किए गए. जानकारी के मुताबिक राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश करने के बाद कहा कि लोकसभा में पार्टी का नेता बनने को तैयार हूं लेकिन अध्यक्ष नहीं रहूंगा. राहुल गांधी ने कहा भी कहा कि मेरी जगह प्रियंका का नाम भी मत लेना, गांधी परिवार से बाहर का अध्यक्ष बनाइए.

कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक के बाद पार्टी की ओर से आधिकारिक बयान आया है. पार्टी की ओर से राहुल गांधी के इस्तीफे को लेकर बयान दिया गया है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यसमिति के सम्मुख अध्यक्ष पद से अपने इस्तीफे की पेशकश की, मगर कार्यसमिति के सदस्यों ने सर्वसम्मति व एक स्वर से इसे खारिज करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष को आह्वान किया कि प्रतिकूल व चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में पार्टी को श्री राहुल गांधी के नेतृत्व व मार्गदर्शन की आवश्यकता है.

रणदीप सुरजेवाला ने कहा- कांग्रेस कार्यसमिति ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को देश के युवाओं, किसानों, महिलाओं, अनुसूचित जाति/जनजाति/पिछड़ों, गरीबों, शोषितों व वंचितों की समस्याओं के लिए आगे बढ़कर जूझने का आग्रह किया. कांग्रेस कार्यसमिति उन चुनौतियों, विफलताओं और कमियों को स्वीकार करती है, जिनकी वजह से ऐसा जनादेश आया.

सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी ने वर्किंग कमेटी की बैठक में कहा कि अध्यक्ष के तौर पर काम नहीं करना चाहता, पार्टी के लिए काम करता रहूंगा, विचारधारा की लड़ाई लड़ना चाहता हूं. इसके साथ ही राहुल गांधी ने पार्टी को चार विकल्प दिए हैं. सूत्रों के हवाले से यह भी खबर है कि राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश के बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि ऐसा निर्णय बीजेपी के जाल में फंसने जैसा होगा, आप जल्दबाजी में फैसला ना लें. बैठक में सबने खड़े होकर राहुल के अध्यक्ष पद से हटने की बात का विरोध किया, हलांकि राहुल राजी नहीं हुए. सोनिया ने मनाने को कहा गया तो वो बोलीं मैं कुछ नहीं कहूंगी, ये राहुल का फैसला है.

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved