Satya Darshan

कौन होगा कांग्रेस अध्यक्ष, हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल आज दे सकते हैं इस्तीफा

नयी दिल्ली (एसडी) | मई 25, 2019

लोकसभा चुनाव संपंन्न हो गया और नतीजों की घोषणा भी हो गई. जिसके बाद एक बार फिर मोदी सरकार ने बहुमत के साथ सत्ता में वापसी की है. नतीजे के दिन बीजेपी मुख्यालय में जश्न भी हुआ और कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को धन्यवाद भी दिया. लेकिन इन सबके बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश की.

हालांकि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने इस्तीफे की बात नहीं कही थी. जिसके बाद से ही चर्चा और अटकलों का बाजार गर्म है कि अगर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देते हैं तो नया कांग्रेस अध्यक्ष कौन होगा ? लोकसभा चुनाव 2019 के बाद कई सवाल हैं जिस पर सिलसिलेवार तरीके से हम चर्चा करेंगे.

सबसे पहला सवाल कि जिस तरह से राहुल गांधी ने इस्तीफे का मन बना लिया है 25 मई को वह कांग्रेस अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे सकते हैं. तो ऐसे में कांग्रेस का नया प्रमुख कौन होगा यह सबसे बड़ा सवाल बना हुआ है?

सूत्रों के हवाले से जो खबर मिली है उसके अनुसार राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को कांग्रेस का नया अध्यक्ष बनाया जा सकता है और राजस्थान के नए मुख्यमंत्री के तौर पर सचिन पायलट का नाम सामने आ रहा है. इसके अलावा कैप्टन अमरिंदर सिंह का नाम भी कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में शामिल है. ऐसे में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी को बनाया जा सकता है.

कांग्रेस के भीतर खबर यह भी चल रही है कि यूपी चुनाव और अगले लोकसभा चुनाव से ठीक पहले प्रियंका गांधी को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जा सकता है. इस पर कांग्रेस के भीतर मंथन चल रहा है.

कांग्रेस के भीतर जो सबसे बड़ा एक सवाल इस समय चर्चा का विषय बना हुआ है वह यह कि मोदी के पास इतने वोट आखिर कहां से आए ? जिसके जवाब में बीपीएल लोगों के समर्थन, बिजली, शौचालय, किसानों के खाते में ₹2000 और नए घर का फॉर्म भरवाना यह सब कुछ शामिल है.

इसके अलावा जो एक सबसे बड़ा सवाल कांग्रेस के भीतर चल रहा है वह ईवीएम की गड़बड़ी को लेकर चल रहा है. लगातार कांग्रेस के कार्यकर्ता ईवीएम पर सवाल उठाते रहे हैं और इस बार भी ईवीएम पर सवाल उठाए जा रहे हैं. लेकिन जो ईवीएम पर सवाल खड़े कर सकते हैं ऐसे 2 नाम कांग्रेस के दो ऐसे नेता जो ईवीएम पर सवाल कर सकते हैं वह है सैम पित्रोदा और पी चिदंबरम.

क्योंकि पी चिदंबरम के समय ही पहली ईवीएम मशीन देश में आई थी तो ऐसे में वह जानते हैं कि ईवीएम के साथ गड़बड़ी हो सकती है या नहीं और ऐसे में उनका सवाल उठाना ज्यादा तर्कसंगत होगा. लेकिन यह दोनों ही कांग्रेस के नेता क्यों चुप बैठे हैं ? इस पर भी कांग्रेस के भीतर एक सवाल उठ रहा है कि क्या यह दोनों ने भारतीय जनता पार्टी के साथ कोई सांठगांठ तो नहीं की ?

कुल मिलाकर लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस के भीतर एक मंथन का दौर चल रहा है. जिसमें कई तरह के सवाल भी उठ रहे हैं और कई तरह के जवाबों को तलाशा जा रहा है. ताकि भविष्य में धराशाई होती कांग्रेस को फिर एक बार उबारा जा सके.

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved