Satya Darshan

उपचुनावों में झटका खा चुके योगी अंतिम चरण में गोरखपुर में डालेंगे डेरा

वाराणसी (एसडी) | मई 14, 2019

लोकसभा उप चुनाव में झटका खा चुके उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस बार गोरखपुर में कोई कसर छोडऩा नहीं चाह रहे हैं। 

उत्तर प्रदेश में सातवें और आखिरी चरण में जिन लोकसभा सीटों पर 19 मई को मतदान होना है, उनमें प्रधानमंत्री मोदी की वाराणसी और योगी का गढ़ गोरखपुर शामिल हैं। 

गोरखपुर चुनाव के महत्व को जानते हुए मुख्यमंत्री ने अब पूरा एक हफ्ता वहीं गुजारने का फैसला किया है। इस हफ्ते योगी गोरखपुर और आसपास के इलाके में 19 जनसभाओं को संबोधित करेंगे।
 
सोमवार से लेकर मतदान तक योगी गोरखपुर में अपने मठ गोरक्षनाथ पीठ में रात गुजारेंगे और इस दौरान रोज सभाएं, बैठक और प्रचार करेंगे। करीब एक साल पहले गोरखपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनावों में मिली हार के बाद योगी का ध्यान अपनी सीट पर है। 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इस सीट पर योगी के पसंद के उम्मीदवार भोजपुरी स्टार रविकिशन को खड़ा किया है। बीते एक पखवारे में योगी गोरखपुर में दो दर्जन सभाएं कर चुके हैं। भाजपा प्रदेश कार्यालय के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार से लेकर 19 मई को मतदान के दिन तक गोरखपुर में रहेंगे और वहीं से आसपास की सीटों पर भी चुनाव प्रचार करने जाएंगे। 
 
बंगाल और बिहार की बची हुई सीटों पर भी चुनाव प्रचार करने योगी गोरखपुर से ही जाएंगे। बीते साल हुए उपचुनावों में भाजपा को हराने वाले प्रवीण निषाद को पार्टी में शामिल कर योगी ने गोरखपुर की पड़ोस की सीट संतकबीर नगर से टिकट दिया है। 

संतकबीर नगर में रविवार को मतदान खत्म हो जाने के बाद प्रवीण निषाद को भी गोरखपुर में प्रचार में लगा दिया गया है। गोरखपुर में गठबंधन प्रत्याशी रामभुवाल निषाद की सजातीय वोटों पर पकड़ कमजोर करने के लिए प्रवीण निषाद को लगाया गया है। गोरखपुर में हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता भी प्रचार में जुटे हैं। 

हालांकि योगी के खास और युवा वाहिनी के पूर्व अध्यक्ष सुनील सिंह अब बागी हो चुके हैं और गोरखपुर में अपने समर्थकों के साथ भाजपा के खिलाफ गठबंधन के प्रत्याशी का प्रचार कर रहे हैं।

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved