Satya Darshan

पांचवां चरण: यूपी मे कुल मतदान 57.33%, राहुल, सोनिया, राजनाथ समेत कई दिग्गजों के भाग्य ईवीएम में कैद

लखनऊ (एसडी) | मई 7, 2019

उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में सोमवार को सम्पन्न हुए मतदान में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, (अमेठी), संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) अध्यक्ष सोनिया गांधी (रायबरेली) और केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह (लखनऊ), पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद (धौरहरा), उत्तर प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष निर्मल खत्री (फैजाबाद) और स्मृति इरानी (अमेठी) समेत 182 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला ईवीम में बंद हो गया।

राज्य के 16 जिलों की 14 लोकसभा सीटों पर 57.33 फीसदी मतदान हुआ। मतदान कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ जो शाम छह बजे तक चला। राज्य के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी रमेश चन्द्र राय ने बताया कि 16 जिलों की 14 सीटों पर मतदान सुबह सात बजे से शुरु हुआ। नौ बजे तक 9.76 मतदान हुआ जबकि 11 बजे 22.88 प्रतिशत मतदान हुआ। दोपहर एक बजे तक 35.43 प्रतिशत, तीन बजे तक 45.07 तथा पांच बजे तक 53.19 मतदाताओं ने वोट डाले। 

उन्होंने बताया इस चरण में 57.33 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मतदान शान्ति पूर्वक संपन्न हुआ। कहीं से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली। कई मतदान केन्द्रों पर ईवीएम खराब होने की सूचना मिली थी जिसे समय रहते ठीक कर लिया गया था। हांलांकि ईवीएम ठीक किये जाने तक मतदान बाधित रहा।

सर्वाधिक 64 प्रतिशत मतदान धौरहरा सीट पर, जबकि सबसे कम प्रतिशत मतदान गोण्डा सिटी पर 51 हुआ। पांचवें चरण में धौरहरा, सीतापुर, मोहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, बांदा, फतेहपुर, कौशांबी, बाराबंकी, फैजाबाद, बहराइच, कैसरगंज और गोंडा संसदीय क्षेत्रों में मतदान हुआ। 

श्री राय ने बताया कि सीतापुर में 62.66 प्रतिशत, मोहनलालगंज (सु) में 60.65 प्रतिशत, लखनऊ में 53.94 प्रतिशत, रायबरेली में 53.68 प्रतिशत, अमेठी में 53.20 प्रतिशत फतेहपुर में 55.08 प्रतिशत, कौशांबी (सु) में 53.60 प्रतिशत, बाराबंकी (सु) में 63 प्रतिशत, फैजाबाद में 60.40 प्रतिशत, बहराइच (सु) में 56.23 प्रतिशत, गोण्डा में 51. 80 प्रतिशत, घौरहरा 64 प्रतिशत और कैसरगंज में 54.87 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले। 

इस चरण में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, (अमेठी), संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) अध्यक्ष सोनिया गांधी (रायबरेली) और केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह (लखनऊ), पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद (धौरहरा), उत्तर प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष निर्मल खत्री (फैजाबाद) और स्मृति इरानी (अमेठी) समेत 182 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला छह बजे ईवीएम में बंद हो गया। 

पांचवे चरण में ईवीएम और वीवीपैट मशीनों में खराबी की खबर आने के बीच केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती के अलावा बिहार के राज्यपाल लालजी टण्डन ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। लखनऊ, रायबरेली, अमेठी और अन्य जिलों में भी खराब हुई ईवीएम और वीवीपैट को बदलने के लिए अधिकारियों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। ईवीएम मशीनों की खराबी के कारण कई केन्द्रों पर मतदान देरी से शुरू हुआ।

अकेले लखनऊ में 25 से अधिक ईवीएम और वीवीपैट को बदला गया, जिसके कारण करीब एक घंटे तक मतदान बाधित रहा। प्रदेश की राजधानी में नगर निगम के पोलिंग सेंटर पांच तथा जानकीपुरम के सेक्टर एच स्थित ब्राइट वे इन्टर कालेज के सेन्टर पर तीन बूथों में ईवीएम खराब होने की सूचना मिली थी। राज्य की राजधानी में कई मतदान केन्द्रो पर सुबह से ही लम्बी कतारें देखी गई हालांकि ईवीएम खराब होने के कारण कई मतदाता मतदान शुरू होने से बिना वोट डाले लौट गए। 

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved