Satya Darshan

आर्थिक नाकामियों को सेना के शौर्य से छिपा रही मोदी सरकार, पराक्रम का श्रेय लेना हमारी फितरत नहीं- मनमोहन सिंह

नयी दिल्ली (एसडी) | मई 2, 2019

चुनाव में एयर स्ट्राइक, सर्जिकल स्ट्राइक का फायदा उठाने को लेकर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा, यूपीए सरकार के दौरान भी कई सर्जिकल स्ट्राइक्स हुई थीं, लेकिन हमने वोट के लिए उनका इस्तेमाल नहीं किया. 

मनमेाहन सिंह ने आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार की आलोचना करते हुए उसे अक्षम्य रूप से असफल बताते हुए कहा कि मोदी सरकार अपनी आर्थिक मोर्चे की असफलता छिपाने के लिए सैन्य बलों के शौर्य की आड़ ले रही है. यह शर्मनाक और अस्वीकार्य है. 

याद करें कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण सहित कई भाजपा नेताओं ने मुंबई के 26/11 हमले पर  मनमोहन सिंह को निशाने पर लिया था.

इस संबंध में  एक इंटरव्यू में उन पर उठे सवालों का जवाब देते हुए  मनमोहन सिंह ने कहा, 2008 में हुए मुंबई हमले के बाद भारत भी सैन्य कार्रवाई का रास्ता अपना सकता था. कहा कि यूपीए सरकार ने पाकिस्तान को अलग-थलग करने और कूटनीतिक तरीकों से आतंकियों के ठिकाने के रूप में उजागर करने का फैसला लिया था. 

इस क्रम में श्री सिंह ने कहा, मुंबई हमले के महज 14 दिनों बाद चीन लश्कर प्रमुख हाफिज सईद को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर सहमत हो गया था. यूपीए सरकार ने मुंबई हमले के उस मास्टरमाइंड पर अमेरिका से 10 मिलियन डॉलर का इनाम भी घोषित करवाया, फर्क सिर्फ यह है कि हमने कभी इस तरह के ऑपरेशन के बारे में बातें नहीं कीं.

मनमोहन सिंह ने कहा, जब हमारी सरकार ने नेशनल काउंटर टेररिज्म सेंटर के जरिये तटीय सुरक्षा व्यवस्था तैयार करने का सुझाव दिया था, तो गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही उस विचार को खारिज किया था. मनमोहन सिंह ने  इंदिरा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री से मोदी की तुलना पर भी अपनी बात रखी. 

कहा कि वे दोनों दृढ़ संकल्पित और दृढ़ निश्चयी थे. दोनों की महानता की वर्तमान सरकार से तुलना नहीं की जा सकती. मनमोहन सिंह ने कहा कि न तो इंदिरा गांधी और न ही उनके किसी उत्तराधिकारी ने सैन्य बलों का श्रेय छीनने की कोशिश की.

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved