Satya Darshan

गाढ़े वक्त में सिर्फ अपने ही आते हैं काम यह चरितार्थ करते हुए मुकेश ने अनिल का चुकाया कर्ज, बचाया जेल जाने से

नयी दिल्ली | मई 1, 2019

सुप्रीम कोर्ट ने रिलायंस कम्युनिकेशन (आरकॉम) के चेयरमैन और उद्योगपति अनिल अंबानी के खिलाफ अवमानना का मामला बंद कर दिया है। शीर्ष अदालत ने अपने आदेश में लिखा कि उन्होंने 453 करोड़ रुपए चुका दिए हैं। 

20 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने एरिक्सन से लिया कर्ज नहीं चुकाने के लिए उन्हें दोषी माना था और कहा था कि अगर चार हफ्ते में बकाया 453 करोड़ नहीं दिए तो तीन महीने की जेल होगी। अनिल अंबानी एरिक्सन इंडिया की तरफ से दायर की गई अदालत की अवमानना संबंधी याचिका के मामले में सुप्रीम कोर्ट में पेश भी हुए थे। 

इससे पहले मुकेश अंबानी छोटे भाई अनिल अंबानी की मदद करने के लिए आगे आए थे। मुकेश अंबानी ने बड़े भाई का फर्ज अदा करते हुए स्वीडन की कंपनी एरिक्सन को 550 करोड़ का भुगतान कर छोटे भाई को अनिल अंबानी को जेल जाने से बचा लिया था। 

इसके बाद उद्योग जगत के लोगों ने कहा था कि एक दशक से अधिक के बाद दोनों भाईयों के रिश्तों में मेल-जोल की शुरुआत हुई है।

यह पूरा मामला स्वीडिश टेलीकॉम उपकरण बनाने वाली कंपनी एरिक्सन इंडिया और रिलायंस कम्युनिकेशन (आरकॉम) से जुड़ा हुआ था। एरिक्सन इंडिया ने आरकॉम पर बकाये के भुगतान के लिए सुप्रीम कोर्ट की शरण ली थी। 

पूरे मामले की सुनवाई करते हुए शीर्ष अदालत ने आरकॉम को भुगतान करने के लिए सबसे पहले 30 सितंबर तक का समय दिया था। तय समय पर आरकॉमकी तरफ से बकाया नहीं दिए जाने पर एरिक्सन ने फिर से सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और अवमानना की याचिका दायर की थी।

अनिल अंबानी के साथ-साथ रिलायंस कम्युनिकेशंस की दो इकाइयों के चेयरमैन छाया विरानी और सतीश सेठ पर भी जेल जाने का खतरा मंडरा रहा था। जेल जाने के एक दिन पहले ही मुकेश अंबानी ने आरकॉम की तरफ से एरिक्सन का कर्ज चुकाकर उन्हें जेल जाने से बचाया।

कर्ज चुकाने के बाद अनिल अंबानी ने कहा, ‘मैं अपने आदरणीय बड़े भाई मुकेश और भाभी नीता के इस मुश्किल वक्त में मेरे साथ खड़े रहने और मदद करने का तहेदिल से शुक्रिया करता हूं। समय पर यह मदद करके उन्होंने परिवार के मजबूत मूल्यों और परिवार के महत्व को रेखांकित किया है। मैं और मेरा परिवार बहुत आभारी है कि हम पुरानी बातों को पीछे छोड़कर आगे बढ़ चुके हैं और उनके इस व्यवहार ने मुझे अंदर तक प्रभावित किया है।’

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved