Satya Darshan

तीस हजार करोड़ के 'वाराणसी विकास' को आइना दिखाता काशी का पुष्कर कुंड

वाराणसी | अप्रैल 23, 2019

वाराणसी के सांसद एवं देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में वाराणसी का चौमुखी विकास हेतु 30000 करोड़ से अधिक रुपया आया और नगर के चुनिंदा जगहों का विकास भी हुआ लेकिन वहीं अस्सी स्थित पुष्कर तालाब का विकास किन्ही कारणों से रोक दिया गया। पूर्व सांसद डा. राजेश मिश्रा के कार्यकाल में पुष्कर तालाब के लिए चार करोड़ 20 लाख रुपया पास हुआ और तालाब पर सुंदरीकरण का कार्य शुरू हुआ लेकिन इस बीच राजेश मिश्रा का कार्यकाल खत्म होते ही कार्य रुक गया। 

भाजपा के  मुरली मनोहर जोशी सांसद बने इनके कार्यकाल में भी  तालाब के सुंदरीकरण का कार्य नहीं शुरू हो सका इसके बाद नरेंद्र मोदी जी वाराणसी के सांसद हुए और देश के यशस्वी प्रधानमंत्री भी बने, प्रधानमंत्री बनने के बाद वाराणसी के विकास के नाम पर 30000  हजार करोड़ से अधिक रुपया आया लेकिन पुष्कर तालाब सहित नगर के तमाम कुंड तालाबों का सुंदरीकरण आज तक नहीं हुआ। 

आज जहां एक तरफ तमिलनाडु में पानी चुनाव का प्रमुख मुद्दा बना है वहीं प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में नगर के कुंड तालाबों की स्थिति दयनीय हो गई है यह बड़े आश्चर्य की बात है कि प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र होने के बाद भी पुष्कर तालाब का कार्य रोक दिया गया और इसका पैसा कहां गया कुछ पता नहीं है। 

नगर के कुंडों तालाबों के लिए संघर्ष कर रहे एवं जागृति फाउंडेशन के महासचिव रामयश मिश्र ने बताया कि पुष्कर तालाब पर कथावाचक मुरारी बापू, देश के प्रसिद्ध पर्यावरणविद सुंदरलाल बहुगुणा, संकट मोचन मंदिर के महंत एवं संकट मोचन फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रोफ़ेसर विशंभर नाथ मिश्र, स्वामी यतीनंदन जी महाराज सहित  देश के तमाम संत महंत इस तालाब पर श्रमदान कर चुके हैं, साथ ही वाराणसी के पूर्व प्रशासनिक अधिकारियों ने भी जिसमें प्रमुख रूप से उस समय के वर्तमान नगर आयुक्त लालजी राय, वाराणसी के पूर्व एडीएम सिटी स्वर्गीय नलिन अवस्थी, वाराणसी के पूर्व कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण सहित उस समय के आला अधिकारियों ने भी इस तालाब पर श्रमदान कर  तालाब को बचाने में सराहनीय सहयोग किया। साथ ही वाराणसी नागरिक समाज एवं अस्सी क्षेत्र के नागरिकों ने भी तालाब के जीर्णोद्धार के लिए सराहनीय सहयोग किया जिससे तालाब पूरी तरह से साफ भी हो गया लेकिन तालाब के सुंदरीकरण  का कार्य पूरा नहीं हो सका केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है। कार्य सीएनडीएस के माध्यम से हो रहा था लेकिन यह कार्य किस वजह से रुका है पता नहीं चल पा रहा है। 

रामयश मिश्र ने बताया कि वह जिलाधिकारी एवं कमिश्नर से जब भी तालाब के सुंदरीकरण के लिए मिलने जाते हैं तो एक ही बात अधिकारी द्वारा कहा जाता है कि जल्द ही तालाब का सुंदरीकरण का कार्य शुरू किया जाएगा लेकिन वह समय कब आएगा यह पता नहीं चल पा रहा है। 

क्या यही है देश के प्रधानमंत्री और वाराणसी के सांसद माननीय प्रधानमंत्री मोदी के वाराणसी के लिए कराए जा रहे विकास का सच, कि एक तरफ तो हजारों हजार करोड़ रुपए नगर के विकास के लिए खर्च किए जा रहे हैं वहीं एक तालाब के सुंदरीकरण का कार्य पैसा पास होने के बावजूद नहीं हो पा रहा है।

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved