Satya Darshan

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य के औचक निरीक्षण में पं. दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में मिली खामियां ही खामियां

पंकज झा | अप्रैल 21, 2019

★डॉ. प्रमोद कुमार के खिलाफ जांच शुरू,एक सप्ताह के अंदर सीएमएस से मांगा रिपोर्ट।

★पर्ची पर बाहर की दवा लिखने वाले चिकित्सकों एवं दलालों पर होगी कार्रवाई।

वाराणसी : पांडेयपुर क्षेत्र के पंडित दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में पर्चे पर बाहर की दवा लिखे जाने एवं दलालों के बढ़ते वर्चस्व के मामले को अखबारो में प्रकाशित किये जाने वाले खबरों को संज्ञान में लेते हुए स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव सुरेश चंद्रा ने शनिवार को अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए उन्होंने आश्वासन दिया कि अस्पताल के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. प्रमोद कुमार के खिलाफ जो आरोप समाचार पत्र में छपे हैं। उस को संज्ञान में लेते हुए सीएमएस मेजर डॉ. विपुल कुमार को मामले की जांचकर एक सप्ताह के अंदर रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट आने के बाद जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि यदि डॉक्टरों के कमरे में दलाल बैठकर बाहरी दवा लिख रहे हैं तो यह गंभीर मामला है। इसके खिलाफ विशेष तौर पर अभियान चलाकर दलालों और दोषी चिकित्सकों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जायेगी। 

अस्पताल में अधिकांश दवाई न होने के मामले में उन्होंने कहा कि यह मामला गंभीर है लेकिन जल्द ही दवाओं की सारी व्यवस्था कर ली जाएगी। जिससे मरीजों को राहत मिल सके। निरीक्षण के दौरान डॉक्टर चंद्रा ने अस्पताल परिसर में कई जगह पर घुमे और अस्पताल की वास्तविक सच्चाई का सामना किया। 

कुछ स्थानों पर दुर्व्यवस्था देखकर उन्होंने गंभीर नाराजगी व्यक्त की और अस्पताल की कमियों को स्वीकारते हुए उन्होंने कहा कि जल्द ही सारी व्यवस्थाएं दुरुस्त करा ली जाएंगी। डॉक्टर चंद्रा ने ये भी कहा कि यदि कोई भी सरकारी चिकित्सक बाहर निजी प्रैक्टिस करते हुए पाया जाता है तो उस डॉक्टर के खिलाफ अविलंब उचित कार्रवाई की जाएगी।

View More

Search

Search by Date

जनमत

वाराणसी से पीएम मोदी लोस चुनाव 2019 जीतेंगे?

Navigation

Follow us

Mailing list

Copyright 2018. All right reserved